scorecardresearch
 

हरियाणा और महाराष्ट्र में 15 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव, 19 को वोटों की गिनती

चुनाव आयोग ने हरियाणा और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनावों की तारीखों का एलान कर दिया है. दोनों राज्‍यों में 15 अक्‍टूबर को वोट डाले जाएंगे. वोटों की गिनती 19 अक्‍टूबर को होगी.

मुख्य चुनाव आयुक्त वीएस संपत मुख्य चुनाव आयुक्त वीएस संपत

चुनाव आयोग ने हरियाणा और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनावों की तारीखों का एलान कर दिया है. दोनों राज्‍यों में 15 अक्‍टूबर को वोट डाले जाएंगे. वोटों की गिनती 19 अक्‍टूबर को होगी.

हरियाणा में 1 करोड़ 65 लाख वोटर हैं जबकि महाराष्‍ट्र में 8 करोड़ 25 लाख वोटर हैं. चुनाव के लिए 20 सितंबर को अधिसूचना जारी की जाएगी. 27 सितंबर को नामांकन की अंतिम तारीख होगी. 29 सितंबर तक नामांकन वापस लिए जा सकते हैं. चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ तत्‍काल प्रभाव से हरियाणा और महाराष्‍ट्र में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है.

चुनाव के लिए हम पूरी तरह से तैयारः बीजेपी
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि बीजेपी चुनाव के लिए पूरी तरह से तैयार है और उन्‍होंने चुनाव की तारीखों का स्‍वागत किया. जावड़ेकर ने कहा कि जनता परिवर्तन के लिए तैयार है. हमारे गठबंधन को विकास के लिए वोट मिलेगा. उन्होंने कहा कि महाराष्‍ट्र और हरियाणा की जनता कांग्रेस के भ्रष्‍ट शासन को उखाड़ फेंकने को बेताब है. हम दोनों राज्‍यों में दो तिहाई सीटें जीतने में सफल होंगे. सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने यह भी बताया कि बीजेपी जल्द ही दोनों राज्‍यों के उम्‍मीदवारों की लिस्‍ट जारी करेगी.

हरियाणा में लगातार तीसरी बार कांग्रेस सरकारः हुड्डा
इस बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा ने दावा किया है कि राज्य में लगातार तीसरी बार कांग्रेस की ही सरकार बनेगी. उन्होंने कहा कि हरियाणा की जनता कांग्रेस के कामकाज से खुश है. पार्टी को इसका ईनाम चुनाव में जरूर मिलेगा.

इस ऐलान के साथ ही एक बार फिर राजनीति का पारा चढ़ने लगेगा. लोकसभा चुनाव के बाद ये पहले बड़े चुनाव होंगे. ये विधानसभा चुनाव मोदी सरकार के लिए भी बड़ी परीक्षा होंगे. सवाल यही है कि क्या लोकसभा चुनाव की तरह इस बार विधानसभा चुनावों में भी मोदी लहर दिखाई देगी या नहीं.

साथ ही हरियाणा में बीजेपी का हरियाणा जनहित कांग्रेस से गठबंधन हाल ही में टूटा है और महाराष्ट्र में भी शिवसेना के साथ बीजेपी के रिश्तों में तनातनी हाल में सामने आई थी. कुल मिलाकर ये विधानसभा चुनाव मोदी सरकार के लिए भी किसी बड़ी परीक्षा से कम नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें