scorecardresearch
 

जर्मनी की रिफ्यूजी कैंप में रह रही गुरप्रीत की मदद को आगे आईं सुषमा

ट्विटर पर गुरप्रीत ने एक छोटा वीडियो डाला है जिसमें उसने आरोप लगाया है कि उसे और उसकी सात साल की बेटी को उसके पति के परिवार ने एक शरणार्थी शिविर में रखवा दिया था.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को जर्मनी में व्यथित अवस्था में रह रही एक भारतीय महिला को मदद का भरोसा दिया. वह महिला भारत आना चाहती है.

ट्विटर पर गुरप्रीत ने एक छोटा वीडियो डाला है जिसमें उसने आरोप लगाया है कि उसे और उसकी सात साल की बेटी को उसके पति के परिवार ने एक शरणार्थी शिविर में रखवा दिया था.

सुषमा ने किया ट्वीट
विदेश मंत्री ने ट्वीट किया, ‘गुरप्रीत, मुझे जर्मनी में अपने राजदूतावास से रिपोर्ट मिल गई है.’ एक और ट्वीट में सुषमा ने कहा, ‘हम तुम्हारी मदद करेंगे.’ उन्होंने कहा कि फ्रैंकफर्ट में भारतीय महावाणिज्य दूतावास इस मामले को देखेगा और इस बारे में उनके (महिला) पिता से भी बात की जा चुकी है.

गुरप्रीत फरीदाबाद की रहने वाली हैं. वह और उनकी बेटी जल्द से जल्द भारत लौटना चाहती हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें