scorecardresearch
 

कश्मीर मुद्दे पर वार्ताकार दिनेश्वर शर्मा को मिलेगी Z श्रेणी की सुरक्षा

जम्मू कश्मीर के लिए केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए स्पेशल रिप्रजेंटेटिव यानी कि वार्ताकार दिनेश्वर शर्मा को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जेड श्रेणी की सुरक्षा दी है.

दिनेश्वर शर्मा दिनेश्वर शर्मा

जम्मू कश्मीर के लिए केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए स्पेशल रिप्रजेंटेटिव यानी कि वार्ताकार दिनेश्वर शर्मा को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जेड श्रेणी की सुरक्षा दी है.

दरअसल, यह सुरक्षा उस व्यक्ति को दी जाती है, जिसको थ्रेट परसेप्शन ज्यादा होता है. इसके लिए IB की तरफ से रिपोर्ट गृह मंत्रालय में भेजी जाती है. उसके बाद गृह मंत्रालय IB की रिपोर्ट के आधार पर उस व्यक्ति को सुरक्षा प्रदान करती है. दिनेश्वर शर्मा को सुरक्षा के लिए CRPF के जवानों की तैनाती की जाएगी, जो कि क्लॉक वाइज इनकी सुरक्षा में तैनात होंगे.  

बता दें कि पिछले कुछ दिन पहले केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यह घोषणा किया था कि दिनेश्वर शर्मा कैबिनेट सेक्रेटरी स्तर के अधिकारी होंगे और इनको कश्मीर की समस्याओं को लेकर केन्द्र सरकार की तरफ से स्पेशल रिप्रजेंटेटिव नियुक्त किया जा रहा है. दिनेश्वर शर्मा इसी सप्ताह जम्मू कश्मीर का दौरा करेंगे और वहां के अलग-अलग स्टेक होल्डर से जम्मू कश्मीर की समस्या को लेकर बातचीत करेंगे.  

आजतक से एक्सक्लूसिव बातचीत में दिनेश्वर शर्मा ने कहा कि अभी सरकार की तरफ से बातचीत के लिए कोई टर्म्स ऑफ रिफरेंस कुछ नहीं दिया गया है. जैसा कि गृहमंत्री ने बताया है और मैंने भी साफ किया है कि कश्मीर में जो भी स्टेक होल्डर हैं हम सबसे बात करेंगे. हम सबसे बात करने के लिए तैयार हैं. जिसमें हुर्रियत भी शामिल हैं.

अलगाववादियों से भी बात

जब ये सवाल किया गया कि अलगाववादी आप से बात नहीं करेंगे तो इस सवाल पर दिनेश्वर शर्मा ने कहा कि हम कश्मीर जा रहे हैं, और ये बातचीत एक या दो दिन में पूरी होने वाली नहीं है. जो समस्या है कश्मीर में उसमें ये सस्टेन डायलॉग होने जा रही है. हमारा ये उद्देश्य है कि कश्मीर में जल्द से जल्द शांति बहाली हो. सभी लोग जम्मू कश्मीर में सुखी जीवन बिताएं बच्चों की पढ़ाई अच्छी तरह चले, फिर से कश्मीर जो पहले स्वर्ग था वो फिर स्वर्ग बन जाए.

युवाओं को मिले रोजगार  

कश्मीर में युवाओं के रेडिक्लाईज होने की एक बहुत बड़ी चिंता है. इससे ज्यादा कश्मीर के लोग इस रेडिक्लाईजेशन को लेकर चिंतित हैं. मुझे पूरा उम्मीद है कि वहां की आवाम इसको लेकर सोच रही है. वो इस पर पूरा सहयोग करेगी. कश्मीर के युवाओं के बीच हम जा रहे हैं. मुझे लगता है कि कश्मीर के युवा बहुत समझदार हैं. वो खुद इस बात को समझते और इक्के दुक्के जो ऑनलाइन प्रोपेगैंडा में शामिल होते हैं, उसको उनके परिवार के लोग ही समझाने में कामयाब होंगे. दिनेश्वर शर्मा ने कहा कि हमारी यही इच्छा और शुभकामनाएं हैं कि कश्मीर के हर एक युवा को रोजगार मिले और वह ज्यादा से ज्यादा काम पाए और सभी लोग सुख शांति से रहें.

कश्मीर में जिस तरीके से आतंकियों के ख‍िलाफ ऑपरेशन चलाया जा रहा है, उसमें आपकी बातचीत क्या सफल हो पाएगी उस पर दिनेश्वर शर्मा ने कहा कि कश्मीर में जो ऑपरेशन चलाया जा रहा है वह अलग मुद्दा है. जो ऑपरेशन चलाया जा रहा है वह जाने पहचाने आतंकवादियों के खिलाफ चलाया जा रहा है. हम तो वहां पर आम जनता से बातचीत करने के लिए जा रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें