scorecardresearch
 

मॉनसून सत्रः दर्शक दीर्घा और चैंबर में भी बैठेंगे माननीय, ये है तैयारी

अगस्त के तीसरे सप्ताह तक ये काम पूरे हो जाने के बाद टेस्टिंग और निरीक्षण होगा. इसके बाद ही फैसला लिया जाएगा कि संसद का मॉनसून सत्र कब से बुलाया जाए.

X
संसद भवन (फोटोः पीटीआई) संसद भवन (फोटोः पीटीआई)

  • सोशल डिस्टेंसिंग का रखा जाएगा ध्यान
  • चैंबर- दर्शक दीर्घा में भी बैठेंगे माननीय

देश में जारी कोरोना वायरस की महामारी के बीच संसद के मॉनसून सत्र की तैयारियां तेज हो गई हैं. संसद सत्र के लिए कर्मचारी युद्धस्तर पर तैयारियों में जुटे हैं. उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने राज्यसभा सचिवालय को अगस्त माह के तीसरे सप्ताह तक तैयारियां पूरी कर लेने के निर्देश दिए हैं. कोरोना प्रोटोकॉल के अनुरूप सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए सांसदों के बैठने की व्यवस्था की जा रही है.

संसद सत्र के दौरान ऊपरी सदन के सदस्यों के लिए दोनों चैंबर और दर्शक दीर्घा में भी बैठने का प्रबंध किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि चैंबर में 60, दीर्घा में 51 और 132 राज्यसभा सदस्य लोकसभा के चैंबर में बैठाए जाएंगे. लोकसभा सदस्यों के लिए भी कुछ इसी तरह के इंतजाम किए जा रहे हैं.

बताया जा रहा है कि राज्यसभा के चैंबर में प्रधानमंत्री, सदन के नेता, विपक्ष के नेता, पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह, एचडी देवगौड़ा, रामविलास पासवान और रामदास अठावले के बैठने का इंतजाम होगा. अन्य मंत्रियों को सत्ताधारी दल के सांसदों के लिए निर्धारित सीट पर बैठाया जाएगा.

संसद की नई इमारत बनाने के लिए रेस में है राम मंदिर बनाने जा रही ये कंपनी

सत्र के संचालन ऑडियो-वीडियो को लेकर किसी तरह की समस्या न हो, इसके लिए बड़े आकार की चार स्क्रीन चैंबर में लगाई जा रही हैं. चार गैलरी में भी छह स्क्रीन लगाई जा रही हैं. बेहतर ऑडियो के लिए विशेष केबल बिछाई जा रही है. चैंबर से गैलरी को अलग करने के लिए पॉलीकार्बोनेट शीट का उपयोग किया जाएगा. भारतीय संसद के इतिहास में साल 1952 से अब तक ऐसा पहली बार हो रहा है.

महाराष्ट्रः विधानसभा का मॉनसून सत्र फिर स्थगित, 7 सितंबर से होगा शुरू

अगस्त के तीसरे सप्ताह तक ये काम पूरे हो जाने के बाद टेस्टिंग और निरीक्षण होगा. इसके बाद ही इस पर निर्णय होगा कि संसद का मॉनसून सत्र कब से शुरू होगा. हालांकि, अनुमान लगाया जा रहा है कि सितंबर के पहले हफ्ते में मॉनसून सत्र की शुरुआत हो सकती है.

गौरतलब है कि राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू और लोकसभा के स्पीकर ओम बिड़ला की मॉनसून सत्र को लेकर 17 जुलाई को बैठक हुई थी. इस बैठक में सत्र बुलाने को लेकर विकल्पों पर चर्चा हुई थी. दोनों ही सदनों के सभापति ने सत्र संचालन के लिए चैंबर और दीर्घा का भी उपयोग करने का निर्णय लिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें