scorecardresearch
 

प्रियंका के लिंचिंग वाले बयान पर BJP ने कहा- 84 दंगों के लिए कांग्रेस मांगे माफी

पहलू खान मॉब लिंचिंग केस में सभी आरोपियों को निचली अदालत द्वारा रिहा किए जाने पर प्रियंका ने ट्वीट कर कहा कि लोअर कोर्ट का फैसला चौंकाने वाला है. उन्होंने कहा कि हमारे देश में अमानवीयता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए और भीड़ द्वारा हत्या एक जघन्य अपराध है.

सोनभद्र पीड़िता से मिलतीं प्रियंका गांधी वाड्रा (फाइल फोटो-एएनआई) सोनभद्र पीड़िता से मिलतीं प्रियंका गांधी वाड्रा (फाइल फोटो-एएनआई)

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मॉब लिंचिंग को जघन्य अपराध करार दिया तो बीजेपी ने तुरंत इस पर प्रतिक्रिया दी और कांग्रेस पर हमला किया. बीजेपी ने कहा कि कांग्रेस को पहले 1984 के सिख विरोधी दंगों में हुई हजारों सिखों की हत्या के लिए माफी मांगनी चाहिए. पहलू खान मॉब लिंचिंग केस में सभी आरोपियों को निचली अदालत द्वारा रिहा किए जाने पर प्रियंका ने ट्वीट कर कहा कि लोअर कोर्ट का फैसला चौंका देने वाला है.

उन्होंने कहा हमारे देश में अमानवीयता की कोई जगह नहीं होनी चाहिए और भीड़ द्वारा हत्या एक जघन्य अपराध है.अगले ही ट्वीट में राजस्थान सरकार की तारीफ करते हुए प्रियंका ने कहा कि राजस्थान सरकार मॉब लिंचिंग के खिलाफ जो कानून बना रही है वो सराहनीय पहल है. प्रियंका ने उम्मीद जताई कि पहलू खान मामले में राजस्थान सरकार पीड़ितों को न्याय दिलाएगी और देश के सामने अच्छा उदाहरण पेश करेगी. 

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने कहा कि कांग्रेस को 1984 के दंगों में मारे गए हजारों सिखों की हत्या के लिए पहले माफी मांगनी चाहिए. बीजेपी नेता ने कहा कि कांग्रेस के शासन काल में देश में अनेक दंगे हुए. इसमें कई लोग मारे गए, कांग्रेस को इसके लिए भी माफी मांगनी चाहिए.

जीवीएल नरसिम्हा ने प्रियंका गांधी को कर्नाटक के कलबुर्गी और गौरी लंकेश हत्याकांड को याद दिलाया. उन्होंने कहा कि इन दोनों की हत्या कांग्रेस सरकार के दौरान हुई थी, लेकिन उन्हें अब तक न्याय नहीं मिला है. बीजेपी ने कहा कि कांग्रेस को हत्याओं पर वोटों की राजनीति नहीं करनी चाहिए. जीवीएल नरसिम्हा ने राजस्थान में हाल में कानून-व्यवस्था की घटनाओं पर भी टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि राजस्थान में दस महीने से कांग्रेस की सरकार चल रही है उन्हें जवाब देना चाहिए ये घटना कैसे हो गई?

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने को भारत का आंतरिक मामला बताते हुए जीवीएल नरसिम्हा ने कहा कि ये बात दुनिया के तमाम देशों के अलावा संयुक्त राष्ट्र भी मान चुका है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से कश्मीर पर बात तो होगी लेकिन पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) को वापस करने पर.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें