scorecardresearch
 

कांग्रेस सांसद की मांग- संसद में एंग्लोइंडियन की जगह थर्ड जेंडर को मिले जगह

तेलंगाना से आने वाले कांग्रेस सांसद रेवंत रेड्डी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर एंग्लो इंडियन आरक्षण को हटाकर उसकी जगह थर्ड जेंडर समुदाय को शामिल करने की मांग की है.

संसद (फोटो- PTI) संसद (फोटो- PTI)

  • एंग्लो-इंडियन समुदाय के आरक्षण को खत्म करने की मंजूरी
  • 545 सदस्यीय लोकसभा में एंग्लो-इंडियन के लिए 2 सीट हैं आरक्षित

तेलंगाना से आने वाले कांग्रेस सांसद रेवंत रेड्डी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखकर एंग्लो इंडियन आरक्षण को हटाकर उसकी जगह थर्ड जेंडर समुदाय को शामिल करने की मांग की है.

उन्होंने कहा, 'मैंने प्रधानमंत्री मोदी को एक पत्र लिखा है, जिसमें उनसे संसद और राज्यों की विधानसभाओं में हाशिए पर पड़े थर्ड जेंडर समुदाय को एंग्लो इंडियन की जगह आरक्षण देने का अनुरोध किया है. मैंने इसके संबंध में एक याचिका शुरू की है, जिस पर मैं सभी से हस्ताक्षर करने का अनुरोध करता हूं.'

कांग्रेस ने यह मांग उस समय की है, जब केंद्र सरकार एंग्लो इंडियन समुदाय के लोगों का लोकसभा और विधानसभाओं में नामांकन बंद करने जा रही हैं. केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इस प्रस्ताव को अपनी मंजूरी भी दे दी है.

सूत्रों के मुताबिक एंग्लो-इंडियन समुदाय के लोगों के लिए आरक्षण की व्यवस्था कुछ समय के लिए की गई थी. सरकार का मानना है कि अब समुदाय अच्छा कर रहा है और उसे आरक्षण की जरूरत नहीं है. अगर जरूरत पड़ी तो बाद में आरक्षण पर फिर से विचार किया जाएगा.

आपको बता दें कि 545 सदस्यीय लोकसभा में एंग्लो-इंडियन समुदाय के लिए 2 सीटें आरक्षित हैं. लोकसभा के अलावा राज्यों की विधानसभाओं में भी एंग्लो-इंडियन समुदाय के आरक्षण को वापस लेने की तैयारी है. हालांकि, अभी तक इस पर स्थिति साफ नहीं हो पाई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें