scorecardresearch
 

CBI केस: खड़गे की मोदी को चिट्ठी, सार्वजनिक हो CVC रिपोर्ट

CBI Case सीबीआई विवाद अभी पूरी तरह से थमा नहीं है. कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने अब प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिख अपील की है कि वह CVC की रिपोर्ट को सार्वजनिक करें.

Mallikarjun Kharge (File Pic, PTI) Mallikarjun Kharge (File Pic, PTI)

देश की सबसे बड़ी एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) में चल रहे विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बावजूद कई पहलू निकल कर आ रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित सेलेक्शन कमेटी का हिस्सा कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीवीसी की रिपोर्ट को सार्वजनिक करने की अपील की है. इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा है कि सेलेक्शन कमेटी की बैठक की पूरी जानकारी जनता के सामने रखी जाए.

लोकसभा में सबसे बड़े विपक्ष दल कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रधानमंत्री को लिखा है, ‘’ रिटायर्ड जस्टिस एके पटनायक की केंद्रीय सतर्कता आयोग (CVC) की रिपोर्ट और सेलेक्शन कमेटी की मिनट टू मिनट जानकारी को सार्वजनिक करना चाहिए.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सीबीआई के नए निदेशक की नियुक्ति के लिए तुरंत सेलेक्शन कमेटी की बैठक बुलाई जानी चाहिए. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने आलोक वर्मा मामले में फैसला सुनाने के बाद सेलेक्ट कमेटी का गठन किया था. इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एके सीकरी और मल्लिकार्जुन खड़गे शामिल हैं.

बता दें कि रिटायर्ड जस्टिस एके पटनायक पर सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई मामले की पूरी रिपोर्ट बनाने की जिम्मेदारी सौंपी थी. लेकिन जब सेलेक्ट कमेटी द्वारा आलोक वर्मा को हटाने का फैसला लिया गया तो उनके बयान ने हलचल मचा दी.

उन्होंने कहा कि रिपोर्ट 1000 पन्नों से भी अधिक थी, ऐसे में 24 घंटे के भीतर ही कमेटी द्वारा आलोक वर्मा को हटाने का फैसला सवाल खड़े करता है. जिसके बाद ही कांग्रेस पार्टी ने सरकार पर दबाव बनाना शुरू कर दिया था. अब एक बार फिर मल्लिकार्जुन खड़गे की तरफ से प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखी गई है.

गौरतलब है कि सीबीआई मामले में फैसले के बाद सुप्रीम कोर्ट ने आलोक वर्मा को बहाल कर दिया था, लेकिन उनरपर लगे आरोपों के आधार पर उनके भविष्य का फैसला सेलेक्ट कमेटी पर छोड़ दिया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एके सीकरी के वोट के आधार पर आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक के पद से हटा दिया गया था. मल्लिकार्जुन खड़गे ने आलोक वर्मा के हक में वोट दिया था.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें