scorecardresearch
 

'ना अपराध ना भ्रष्टाचार, अबकी बार भाजपा सरकार' नारे के साथ यूपी फतह की तैयारी में बीजेपी

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव अगले साल होने हैं लेकिन बीजेपी अभी से चुनाव की तैयारियों में जुट गई है. सूत्रों के मुताबिक यूपी चुनाव के लिए बीजेपी ने नारा तैयार कर लिया है. 'ना अपराध ना भ्रष्टाचार, अबकी बार भाजपा सरकार' इस नारे के साथ बीजेपी चुनावी मुहिम को यूपी में अंजाम देगी.

अमित शाह रणनीति के तहत यूपी चुनाव की तैयारियोें में जुटे हैं अमित शाह रणनीति के तहत यूपी चुनाव की तैयारियोें में जुटे हैं

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव अगले साल होने हैं लेकिन बीजेपी अभी से चुनाव की तैयारियों में जुट गई है. सूत्रों के मुताबिक यूपी चुनाव के लिए बीजेपी ने नारा तैयार कर लिया है. 'ना अपराध ना भ्रष्टाचार, अबकी बार भाजपा सरकार' इस नारे के साथ बीजेपी चुनावी मुहिम को यूपी में अंजाम देगी. खबरों की मानें तो बीजेपी 'ना अपराध ना भ्रष्टाचार, अबकी बार भाजपा सरकार' नारे के जरिये केंद्र सरकार की बेदाग छवि को जनता के सामने रखेगी. साथ ही अपराध और भ्रष्टाचार को लेकर पार्टी अखिलेश सरकार, कांग्रेस और बीएसपी पर हल्ला बोलेगी.

यूपी पर बीजेपी का फोकस तेज
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह ये अच्छी तरह से जानते हैं कि 2019 में लोकसभा चुनाव से पहले 2017 में उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव बेहद अहम हैं. इसलिए अमित शाह ने अपना पूरा फोकस यूपी पर केंद्रित कर दिया है. पिछले अमित शाह ने इलाहाबाद में सरदार पटेल किसान महासम्मेलन में यूपी सरकार के साथ-साथ कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि यूपी की स्थिति सुधारने के लिए बीजेपी की सरकार को सत्ता में लाना जरूरी है. शाह ने लोगों से सपा सरकार को उखाड़ फेंकने की अपील की.

रणनीति को अंजाम देने में जुटे हैं अमित शाह
दरअसल अमित शाह हमेशा से चुनाव और संगठन की दृष्टि से एक अच्छे रणनीतिकार माने जाते रहे हैं. फिलहाल वो यूपी में सोशल इंजीनियरिंग फॉर्मूले को अंजाम देने में जुटे हैं. उन्हें पता है कि किसी एक समुदाय की नाराजगी पार्टी को भारी पड़ सकती है. इसी कड़ी में बीजेपी अति पिछड़ी जातियों के बीच पहुंच बढ़ाने की कोशिशें तेज कर दी हैं. पिछले दिनों अमित शाह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सेवापुरी विधानसभा क्षेत्र में एक गांव में एक दलित परिवार के साथ जमीन पर बैठकर खाना खाया. उत्तर प्रदेश में अति पिछड़ी जाति के वोटरों की संख्या करीब 30 फीसदी है.

13 जून को पीएम चुनावी अभियान का करेंगे आगाज
इसके अलावा यूपी फतह की कड़ी में चुनावी रैलियों का मोर्चा अमित शाह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह संभालेंगे. यही नहीं, रणनीति के तहत ही केशव प्रसाद मौर्य को पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है. यूपी में बीजेपी की सोशल इंजीनियरिंग को अंजाम देने का काम खुद अमित शाह और यूपी के प्रभारी और पीएम नरेंद्र मोदी के विश्वासपात्र ओम प्रकाश माथुर कर रहे हैं. साथ ही 13 जून को इलाहाबाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के साथ राज्य में चुनाव अभियान तेज होगा. इस रैली में तीन लाख से ज्यादा लोगों के जुटने की उम्मीद जताई जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें