scorecardresearch
 

यशवंत के समर्थन में BJP के 'शत्रु', बोले- अगर सच कहना बगावत है तो हम बागी हैं

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि यशवंत सिन्हा एक व्यक्तित्व वाले राजनेता हैं, वो देश के पूर्व वित्तमंत्री और विदेश मंत्री रहे हैं. उन्होंने अर्थव्यवस्था को लेकर जो कहा है वो बिल्कुल ठीक है. यशवंत सिन्हा ने कुछ भी गलत नहीं कहा.

बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा

अर्थव्यवस्था पर पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा द्वारा उठाए गए सवालों का बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने समर्थन किया है. 'आज तक' के साथ हुई खास बातचीत में शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि यशवंत सिन्हा एक गंभीर व्यक्तित्व वाले राजनेता हैं, वो देश के पूर्व वित्तमंत्री और विदेश मंत्री रहे हैं. उन्होंने अर्थव्यवस्था को लेकर जो कहा है वो बिल्कुल ठीक है. यशवंत सिन्हा ने कुछ भी गलत नहीं कहा.

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मैं उनकी कही बातों से सहमत हूं. यशवंत सिन्हा ने जो कहा है वो बात अरुण शौरी, सुब्रमण्यम स्वामी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन भी कह चुके हैं. सिन्हा ने कहा, नोटबंदी के बारे में पहले भी कह चुका हूं कि ये गलत समय पर लिया गया फैसला है.

सवाल उठाने वाले डर्टी ट्रिक्स डिपार्टमेंट के लोग

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, जयंत सिन्हा ने यशवंत सिन्हा जी के सवालों पर जिस तरह से सरकार का पक्ष रखा है वो एक सरकारी पीआईबी की प्रेस रिलीज़ है. जयंत सिन्हा जिस तरह से सरकार का पक्ष रखा वो उनकी मजबूरी थी. सिन्हा ने कहा कि जो लोग यशवंत सिन्हा पर सवाल उठा रहे हैं, वो डर्टी ट्रिक्स डिपार्टमेंट के लोग हैं. जो सवाल यशवंत सिन्हा ने उठाये हैं उन्हें अरुण जेटली ने पर्सनल ले लिया. उन्होंने कहा कि वो अस्सी साल की उम्र में जॉब चाहते हैं ये बात अमित शाह को नहीं कहनी चाहिए थी. यशवंत सिन्हा ने सात बार बजट पेश किया है उनके बारे में ये कहना ठीक नहीं है कि वो अस्सी साल की उम्र में जॉब चाहते हैं. यशवंत सिन्हा के सवालों का जवाब अमित शाह ने गोल जलेबी बना दिया. मैं अरुण जेटली के जवाबों से संतुष्ट नहीं हूं.

क्यों नहीं बनाया गया मंत्री

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा , लोग कहते हैं कि मैं इसलिए बोलता हूं कि मुझे मंत्री नहीं बनाया. वो भी जब तब मैं रिकॉर्ड मतों से जीता हूं और बीजेपी का पहला स्टार प्रचारक रहा हूं. मंत्री नहीं बनाये जाने से मुझे कोई दुख नहीं होता लेकिन समर्थकों और प्रंशासकों को दुख होता है. लेकिन मैं इतना ज़रूर जानना चाहता हूं कि मुझमें क्या कमी थी. सिन्हा ने कहा कि पहले भी अटलजी की सरकार में मैं मंत्री रहा हू. वरिष्ठ सांसद हूं, फिर भी मंत्री नहीं बनाया लेकिन क्यों? जब आप बाहर से लोगों को लाकर मंत्री बना रहे हैं, वो भी जब तब पार्टी में कई टैलेंटेड लोग हैं, ये ठीक नहीं है. शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि इस सरकार में वो लोग मंत्री बने हुए हैं जो पार्षद का चुनाव नहीं जीत सकते. मैं तो मोदी लहर में रिकॉर्ड मतों से जीता हूं. मेरे संसदीय क्षेत्र में किसी ने प्रचार नहीं किया था, लेकिन अरुण जेटली मोदी लहर में भी अमृतसर से बड़े अंतर से चुनाव हार गए. पार्टी में जो कभी चुनाव नहीं लड़े वो चुनावी रणनीति बनाते हैं. प्रधानमंत्री आज कल चापलूसों से घिर गए हैं.

पीएम मोदी ने नहीं दिया मिलने का समय

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, मोहन भागवत जी ने अच्छी बात कही है कि सबकी सुननी पड़ेगी और अर्थव्यवस्था को मापने का तरीका जीडीपी नहीं हो सकता. मैं इतना कहूंगा कि नहीं सुनेंगे तो चुनाव दूर नहीं है. उन्होंने कहा कि कैबिनेट फेरबदल से पहले मैंने प्रधानमंत्री से मिलने का समय मांगा था लेकिन समय नहीं मिला. जवाब मिला कि पार्टी अध्यक्ष से मिल लीजिए. मैंने कहा कि मंत्री बनने का दावा नहीं करना चाहता हूं, मैं तो फीडबैक देना चाहता था.

सच कहना बग़ावत है तो हम बागी

शत्रुघ्न ने कहा कि यशवंत सिन्हा ने पार्टी के ख़िलाफ कोई बग़ावत नहीं की बल्कि पार्टी को सच से अवगत कराया है. उन्होंने कहा कि अगर सच कहना बग़ावत हैं तो हम बागी हैं. पार्टी फोर्म पर कोई उनकी बात सुन ही नहीं रहा था. एक साल पहले भी कश्मीर मामले पर प्रधानमंत्री और गृहमंत्री राजनाथ से समय मांगा था, आज तक समय नहीं मिला. इसलिए लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ मैं अपनी बात कही है. यशवंत सिन्हा ने कुछ गलत नहीं किया है. अभी चुनावी मौसम है इसलिए उन पर अभी कोई कार्यवाही नहीं होगी. शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि अगर यशवंत सिन्हा पर कार्यवाही होती है तो मैं उनके साथ खड़ा रहूंगा. उन्होंने कहा कि अगर पार्टी मुझे टिकट नहीं देगी तो न्यूटन का सिद्धांत है हर एक्शन का रिएक्शन ज़रूर होता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें