scorecardresearch
 

यूपी: पुलिस ने कहा- बीजेपी ने उपचुनाव जीतने के लिए मचाया मुरादाबाद में बवाल

उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद के कांठ में करीब एक हफ्ते पहले धार्मिक स्थल से लाउडस्पीकर उतारे जाने को लेकर उपजा विवाद तूल पकड़ता जा रहा है. विवाद को लेकर बीजेपी विधायक संगीत सोम ने आज तक के साथ खास बातचीत में कहा कि समाजवादी सरकार यहां (मुरादाबाद में) विवाद पैदा कर रही है. वह इस विवाद के जरिए यूपी में बिजली-पानी और खस्ताहाल कानून व्यस्था से ध्यान बंटाना चाहती है.

बीजेपी विधायक संगीत सोम बीजेपी विधायक संगीत सोम

उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद के कांठ में करीब एक हफ्ते पहले धार्मिक स्थल से लाउडस्पीकर उतारे जाने को लेकर उपजा विवाद तूल पकड़ता जा रहा है. मुरादाबाद पुलिस ने तनाव के पीछे सीधे-सीधे बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है. एसएसपी ने बयान दिया है कि शुक्रवार को हुए बवाल लिए बीजेपी जिम्मेदार है. बीजेपी की महापंचायत से ही
मुरादाबाद में तनाव बढ़ा.

एसएसपी धर्मवीर सिन्हा ने कहा कि रेल ट्रैक पर बैठकर बीजेपी समर्थकों ने रास्ता रोका. उन्होंने ठाकुरद्वारा उपचुनाव विधानसभा जीतने के लिए तनाव पैदा किया. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव भी किया जिसमें डीएम की आंख पर गंभीर चोट आई.

धर्मवीर सिन्हा ने कहा कि मुरादाबाद से बीजेपी सांसद सर्वेश सिंह ने 16 जून को जबरन माइक लगवाया. इससे तनाव हुआ. दोनों समुदायों को बुलाकर समझाने की भी कोशिश की गई. लेकिन सर्वेश के समर्थकों ने समझौते से साफ मना कर दिया. माइक उतरवाने के बाद महापंचायत बुलाई गई. इसके बाद ही बवाल मचा. गांव के कोई टकराव नहीं होता, नेता लोगों को भड़का रहे हैं. अब तक इस मामले में 62 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

बीजेपी MLA संगीत सोम बोले- UP सरकार नहीं चाहती कि हिंदू-मुस्लिम मिलकर रहें
विवाद को लेकर बीजेपी विधायक संगीत सोम ने आज तक के साथ खास बातचीत में कहा कि समाजवादी सरकार यहां (मुरादाबाद में) विवाद पैदा कर रही है. वह इस विवाद के जरिए यूपी में बिजली-पानी और खस्ताहाल कानून व्यस्था से ध्यान बंटाना चाहती है.

सोम ने कहा कि यूपी सरकार नहीं चाहती कि हिंदू-मुस्लिम मिलकर रहें. इसलिए वह यहां ऐसा विवाद पैदा कर रही है. सपा नेताओं ने लोगों पर लाठी क्यों चलाईं? यूपी सरकार भेदभाव करती है. हमारी बवाल करने की कोई इच्छा नहीं थी. नमाज के वक्त हम लोग माइक बंद कर देते हैं.

आपको बता दें कि संगीत सोम मुजफ्फरनगर दंगों में आरोपी हैं. मुजफ्फरनगर में भी दो समुदायों के बीच विवाद होने महापंचायत बुलाई गई थी. इसके बाद यहां दंगे भड़क गए थे.

बीजेपी की पंचायत से बढ़ा मुरादाबाद में तनाव: एसएसपी
एसएसपी ने कहा है कि बीजेपी की महपंचायत से मुरादाबाद में तनाव बढ़ा है. रेल ट्रैक पर बैठकर बीजेपी समर्थकों ने रास्ता रोका. उन्होंने ठाकुरद्वारा उपचुनाव विधानसभा जीतने के लिए बीजेपी ने तनाव पैदा किया. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया.

रेल सेवा पर असर और तनाव बरकरार
शुक्रवार को बीजेपी महापंचायत में हुए हंगामे के बाद से अब तक मुरादाबाद सुलग रहा है. विवाद के चलते मुरादाबाद में रेल सेवा पर पर भी बुरा असर पड़ा है. कई ट्रेनों के रूट बदले गए हैं. मुरादाबाद के कमिश्नर शिवशंकर सिंह ने कहा कि यहां तनाव बरकरार है लेकिन हालात काबू में हैं. यहां अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है. पथराव में घायल हुए डीएम का इलाज चल रहा है.

बीजेपी पर वार
मुरादाबाद की घटना को लेकर समाजवादी पार्टी ने बीजेपी पर निशाना साधा है. सपा नेता रामगोपाल यादव ने कहा है कि बीजेपी यहां सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ना चाहती है. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि बर्दाश्त की भी सीमा होती है, बीजेपी अपनी हरकतों से बाज आए.

शुक्रवार को बढ़ा था विवाद
कांठ इलाके में महापंचायत आयोजित करने का मुद्दा शुक्रवार को हिंसक संघर्ष में बदल गया था. बीजेपी के चार सांसदों और एक विधायक सहित कई नेताओं को हिरासत में ले लिया गया था. कांठ में हाल में हुए विवाद के बाद राज्य सरकार के आदेश का उल्लंघन करते हुए राज्य बीजेपी ने महापंचायत का आयोजन किया था. एक मंदिर से लाउडस्पीकर हटाने को लेकर इलाके में सांप्रदायिक तनाव फैल गया था. सरधना के विधायक संगीत सोम, अमरोहा के सांसद कुंवर सिंह तंवर, संभल के सांसद सत्यपाल सैनी और रामपुर के सांसद नेपाल सिंह को पुलिस ने हिरासत में लिया और पुलिस लाइंस भेज दिया था.

आरएसएस और हिंदू महासभा के समर्थकों एवं कार्यकर्ताओं के नेतृत्व में पार्टी के लोगों ने रेलगाड़ी की लाइनों को जाम कर दिया और पथराव किया जिसके बाद पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें