scorecardresearch
 

अमित शाह बोले- सरदार पटेल ने जनता के सामने रखा पुलिस का नया कॉन्सेप्ट

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि देशभर के पुलिस के लोगों का एक ही वाक्य है कि उन्हें पुख्ता ट्रेनिंग मिले और इसमें बीपीआरडी अहम भूमिक निभा रहा है. सरदार पटेल ने आजादी के बाद पुलिस की भूमिका का नया कांसेप्ट जनता के सामने रखा. सरदार पटेल ने पुलिस को रिफॉर्म करने में अहम भूमिका निभाई.

गृह मंत्री अमित शाह गृह मंत्री अमित शाह

पुलिस शोध और विकास ब्यूरो (बीपीआरडी) के स्थापना दिवस पर कार्यक्रम में पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि पुलिस यूनिवर्सिटी और फोरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी की स्थापना राष्ट्रीय स्तर पर की जाएगी. प्रत्येक राज्य में इसके कॉलेज होंगे. ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ने इस बारे में एक मसौदा भेजा है, इसे जल्द ही कैबिनेट के समक्ष रखा जाएगा.

अमित शाह ने कहा कि पचास साल तक अगर ये संस्था (बीपीआरडी) चल गई तो ये साबित करता है कि अपनी प्रासंगिकता बनाए रखने में ये सफल हुआ है. इसमें तैनात हुए लोगों ने बहुत बढ़िया काम किया है. प्रधानमंत्री मोदी भारत को दुनिया के टॉप थ्री इकोनॉमी में ले जाना चाहते हैं. ये संभव भी है. उसके लिए अन्य चीजों के अलावा लॉ एंड ऑर्डर को भी बेहतर बनाना है. इसके लिए आंतरिक सुरक्षा मजबूत होगी.

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि देशभर के पुलिस के लोगों का एक ही वाक्य है कि उन्हें पुख्ता ट्रेनिंग मिले और इसमें बीपीआरडी अहम भूमिका निभा रहा है. सरदार पटेल ने आजादी के बाद पुलिस की भूमिका का नया कॉन्सेप्ट जनता के सामने रखा. सरदार पटेल ने पुलिस को रिफॉर्म करने में अहम भूमिका निभाई.

गृह मंत्री ने कहा कि अब तक 34 हजार से ज्यादा पुलिस के जवानों ने अपना बलिदान दिया है, तब जाकर पुलिस की देश में ये साख बनी है. पुलिस रिफॉर्म और पुलिसिंग में रिफॉर्म दोनों पर काम करने की जरूरत है. देशभर में सीआरपीसी में बड़े बदलाव के लिए देशभर से सुझाव मांगे जाने की बात मैंने बीपीआरडी से की है, जो लोग ये सुझाव देंगे वो पुलिस और आम जनता के बीच होंगे.

अमित शाह ने कहा कि जेल के अंदर जो शख्स आता है उसको सुधारने का कार्यक्रम इस संस्था को करना चाहिए. पुलिस को मॉर्डन करने के लिए दस साल का प्रोग्राम बनाया जाना चाहिए. अर्थव्यवस्था को टॉप थ्री में लाने के लिए मजबूत पुलिसिंग जरूरी, संस्थाओं को प्रोएक्टिव रहना चाहिए और अपने दायरे को बढ़ाना चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें