scorecardresearch
 

बिहार-असम में बारिश और बाढ़ का कहर, अब तक 197 लोगों की मौत

बिहार और असम में बारिश और बाढ़ के चलते अब तक 197 लोगों की मोत हो चुकी है. अधिकारियों के मुताबिक इन दो राज्यों में बाढ़ से एक करोड़ 24 लाख लोग प्रभावित हुए हैं.

सांकेतिक तस्वीर (Courtesy- AP) सांकेतिक तस्वीर (Courtesy- AP)

बिहार, असम, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में कुदरत का कहर जारी है. मूसलाधार बारिश और बाढ़ के चलते लोगों का जीवन अस्त व्यस्त हो गया है. बिहार और असम में बारिश और बाढ़ के चलते अब तक 197 लोगों की मोत हो चुकी है. अधिकारियों के मुताबिक इन दो राज्यों में बाढ़ से एक करोड़ 24 लाख लोग प्रभावित हुए हैं.

बिहार में अब तक 123 लोग और असम में अब तक 74 लोगों की मौत हो चुकी है. बताया जा रहा है कि असम में जिन 74 लोगों की मौत हुई है, उनमें से 6 लोगों की मौत डेंगू से हुई है. अधिकारियों ने बताया कि बिहार में हालात बदतर हो गए हैं. हालांकि राहत की बात यह है कि पिछले दो दिन से सूबे में बारिश सामान्य हो रही है.

बिहार और असम में चारो ओर पानी भर गया है. सड़क से लेकर लोगों के घर तक पानी-पानी ही नजर आ रहा है. बिहार के दरभंगा समेत कई इलाकों के सैकड़ों गांव सैलाब में समा गए हैं. कई लोग बेघर हो गए हैं और पानी में फंसे हैं. बिहार में बाढ़ में फंसे लोग दाने-दाने को मोहताज हैं और सेना के हेलिकॉप्टर से प्रभावित लोगों को पैकेट फूड पहुंचाया जा रहा है.

इसके अलावा बाढ़ को देखते हुए स्कूलों को बंद करने का निर्देश दिया गया है. बिहार के राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक बिहार के सीतामढ़ी जिले में हालात सबसे बदतर हैं. यहां पर मरने वालों की संख्या 27 से बढ़कर 37 पहुंच गई है, जबकि मधुबनी में 5 लोगों की और मौत होने से मृतकों की संख्या 30 तक पहुंच गई है. इसके अलावा मुजफ्फरपुर में मरने वालों की संख्या 2 से बढ़कर 4 हो गई है.

बिहार के राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक सूबे के 12 जिलों के 105 ब्लॉक के 81 लाख 57 हजार लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. वहीं, असम के राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक सूबे के 33 जिलों में से 20 जिलों में बारिश और बाढ़ का जबरदस्त कहर है, जिससे करीब 38 लाख 82 हजार लोग प्रभावित हुए हैं. असम के नालबारी, बरपेटा, धुबरी, गोलाघाट और मोरीगांव जिले में 6 लोगों की मौत होने से सूबे में मतृकों की संख्या बढ़कर 74 हो गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें