scorecardresearch
 

सुप्रीम कोर्ट में अब 'ऑल इज वेल', बार काउंसिल ने विवाद को बताया- घर की लड़ाई

अटॉर्नी जनरल वेणुगोपाल ने कहा कि जजों के बीच जो विवाद था, वो खत्म हो चुका है. उन्होंने कहा कि पूरा मामला सुलझ गया है और अब सबकुछ ठीक है.

जज विवाद खत्म होने का दावा जज विवाद खत्म होने का दावा

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस और 4 जजों के बीच पनपे विवाद पर अब विराम लग गया है. बार काउंसिल ऑफ इंडिया और अटॉर्नी जनरल ऑफ इंडिया ने मामला सुलझने का दावा किया है.

रविवार को जजों से मुलाकात के बाद आज बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने बाकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामला सुलझने का दावा किया. बार काउंसिल ने इस मामले को घर की लड़ाई बताया है. काउंसिल के चेयरमैन मनन मिश्रा ने मीडिया को बताया कि जजों ने मिलकर ही इस विवाद को सुलझा लिया है.

उन्होंने कहा कि न्यायपालिका की गरिमा बनाए रखनी चाहिए. साथ ही विवाद सुलझाने के लिए चीफ जस्टिस और चारों जजों का आभार भी जताया. हालांकि, जस्टिस लोया की मौत और उससे जुड़े केस पर मनन मिश्रा ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि इस मामले में जस्टिस लोया का परिवार कह चुका है कि उन्हें इस मामले में कुछ नहीं करना है.

वहीं इससे पहले अटॉर्नी जनरल वेणुगोपाल ने कहा कि जजों के बीच जो विवाद था, वो खत्म हो चुका है. उन्होंने कहा कि पूरा मामला सुलझ गया है और अब सबकुछ ठीक है.

वेणुगोपाल ने आजतक को बताया कि जजों के लाउंज में चीफ जस्टिस और बाकी जजों के बीच अनौपचारिक बातचीत हुई. कोर्ट स्टाफ को लाउंज से बाहर रखा गया था. अब चाय कप के साथ विवाद खत्म हो गया है.

एक तरफ जहां वेणुगोपाल ने अपने बयान में विवाद खत्म होने का दावा किया है, वहीं प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले चारों जजों ने काम संभाल लिया है.

शुक्रवार यानी 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट के चार जजों जस्टिस चेलमेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ ने सुप्रीम कोर्ट के न्यायिक प्रशासन पर सवाल उठाए थे. उन्होंने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा पर गंभीर आरोप भी लगाए थे. जिसके बाद ये मुद्दा पूरे देश में चर्चा का विषय बना.

पूर्व जजों और बार काउंसिल ऑफ इंडिया समेत देश के तमाम गणमान्य जनों द्वारा इस ऐतिहासिक विवाद को सुलझाने की कोशिशें की जा रही थीं. चारों जजों से मुलाकात का दौर भी चला. हालांकि, ये भी खबर आई थी कि खुद चीफ जस्टिस चारों जजों से मिलेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. लेकिन बार काउंसिल डेलीगेशन ने रविवार को जजों से अलग-अलग मुलाकात कीं. जिसके बाद आज अटॉर्नी जनरल ने विवाद खत्म होने का दावा किया.

जस्टिस लोया के बेटे ने किया दावा

इस पूरे विवाद में जस्टिस लोया की मौत भी चर्चा के केंद्र में रही. जिसके बद रविवार को जस्टिस बीएच लोया के बेटे अनुज लोया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि उनके पिता की मौत संदिग्ध नहीं थी. उनकी मौत हार्ट अटैक से हुई थी. उन्होंने कहा कि बीते कुछ दिनों से मेरे परिवार को परेशान किया जा रहा है. हम पहले से ही बेहद दुखी हैं. बीते कुछ दिनों से ये परेशानी और बढ़ गई है. कृपया हमें परेशान न करें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें