scorecardresearch
 

अन्ना बोले- गारंटी लेता हूं, इस बार आंदोलन से कोई केजरीवाल पैदा नहीं होगा

एक और आंदोलन से फिर से कोई केजरीवाल तो नहीं बन जाएगा, इस सवाल पर अन्ना ने कहा कि अब आंदोलन से कोई पैदा नहीं होगा. इसकी गारंटी मैं लेता हूं.

अन्ना हजारे अन्ना हजारे

अन्ना हजारे जल्द ही कश्मीर से कन्याकुमारी तक यात्रा निकालेंगे. इस यात्रा का उद्देश्य लोगों को जागरूक करना है. अन्ना हजारे ने कहा कि दिल्ली में 23 मार्च से होने वाले आंदोलन से जुड़ने की वे अपील करेंगे. इसके लिए अन्ना ने बाकायदा एक नंबर (8879069688) भी जारी किया है.  अन्ना ने कहा कि देश में पार्टियां और संगठन होने की वजह से भ्रष्टाचार बढ़ा है.

एक और आंदोलन से फिर से कोई केजरीवाल तो नहीं बन जाएगा, इस सवाल पर अन्ना ने कहा कि अब आंदोलन से कोई पैदा नहीं होगा. इसकी गारंटी मैं लेता हूं. आम आदमी को अपने अधिकार के लिए जागरूक होना होगा.

अन्ना हजारे मोदी सरकार से नाखुश हैं. अन्ना के मुताबिक मोदी सरकार से भ्रष्टाचार के खिलाफ कदम उठाने की जितनी उम्मीद थी, उतना काम नहीं हो सका है. अन्ना भ्रष्टाचार के खिलाफ अपने अभियान में लोगों से जुड़ने की अपील कर रहे हैं. अन्ना ने साल 2011 में बड़ा आंदोलन शुरू किया था. इसके बाद तत्कालीन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार लोकपाल कानून पारित करने पर बाध्य हुई थी.

कौन हैं अन्ना हजारे...

अन्ना हजारे एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं, जिनका वास्तेविक नाम किसन बाबूराव हजारे है. 15 जून 1938 को महाराष्ट्र के अहमद नगर के भिंगर कस्बे में जन्मे अन्ना हजारे का बचपन बहुत गरीबी में गुजरा. पिता मजदूर थे, दादा फौज में थे. दादा की पोस्टिंग भिंगनगर में थी. अन्ना के पुश्तै नी गांव अहमद नगर जिले में स्थित रालेगण सिद्धि में था. दादा की मौत के सात साल बाद अन्ना का परिवार रालेगण आ गया. अन्ना के 6 भाई हैं. परिवार में तंगी का आलम देखकर अन्ना की बुआ उन्हें मुम्बई ले गईं. वहां उन्होंने सातवीं तक पढ़ाई की थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें