scorecardresearch
 

दिग्विजय की चुनौती: ब्लैकमनी पर जेटली-जेठमलानी के बीच बहस करा दें

दिग्विजय ने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि पीएम मोदी ने कहा था कि नोटबंदी से भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा, आतंक की कमर टूट जाएगी, कालाधन समाप्त हो जाएगा, फेक करंसी खत्म हो जाएगी. लेकिन उसकी तैयारी कुछ नहीं की, परिणाम ये हुआ कि 15 लाख लोगों ने रोजगार खो दिया. दो फीसदी जीडीपी नीचे चला गया, साथ ही बैंकों ने भी भारी भ्रष्टाचार किया. सरकार की तैयारी ऐसी थी नोटबंदी के बाद 50 दिनों में 66 आदेश निकाले.

पंचायत आजतक में दिग्विजय सिंह पंचायत आजतक में दिग्विजय सिंह

पंचायत आजतक में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने मोदी सरकार के चार साल के कार्यों पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार को लेकर कोई काम नहीं किया. साथ ही उन्होंने बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को चुनौती दी और कहा कि ब्लैकमनी पर जेठमलानी और जेटली का बहस करा दें, सबकुछ साफ हो जाएगा.

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार की लड़ाई इतनी लड़ी कि गुजरात में लोकायुक्त नहीं बनने दिया. चार साल में लोकपाल का गठन नहीं किया. भारतीय जनता पार्टी का एक ही एजेंडा है, हिन्दू मुसलमान के नाम पर हिन्दूओं को मूर्ख बनाओ और उनसे वोट लो.

दिग्विजय ने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि पीएम मोदी ने कहा था कि नोटबंदी से भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा, आतंक की कमर टूट जाएगी, कालाधन समाप्त हो जाएगा, फेक करेंसी खत्म हो जाएगी. लेकिन उसकी तैयारी कुछ नहीं की, परिणाम ये हुआ कि 15 लाख लोगों ने रोजगार खो दिया. दो फीसदी जीडीपी नीचे चला गया, साथ ही बैंकों ने भी भारी भ्रष्टाचार किया. सरकार की तैयारी ऐसी थी नोटबंदी के बाद 50 दिनों में 66 आदेश निकाले.

पंचायत आजतक में उन्होंने बीजेपी नेता प्रकाश जावड़ेकर को चुनौती देते हुए कहा कि आप कालाधन पर राम जेठमलानी और अरुण जेटली का बहस करा दें, सबकुछ साफ हो जाएगा. सरकार ने बताया था कि इतना कालाधन आ जाएगा देश में कि प्रत्येक व्यक्ति के खाते में 15-15 लाख रुपये जमा हो जाएंगे.

केंद्र की मोदी सरकार के चार साल पूरे होने पर आजतक ने पंचायत बुलाई है. इस मंच पर केंद्र सरकार के वरिष्ठतम मंत्रियों समेत विपक्ष के कई बड़े नेता हिस्सा ले रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें