scorecardresearch
 

नोटबंदी कालेधन पर एक्शन का पहला कदम थाः जावड़ेकर

इस मुद्दे पर दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया कि पीएम मोदी की सूटबूट की सरकार है. साथ ही नोटबंदी का मुद्दा भी उठाया. दिग्विजय ने कहा कि मोदी ने कहा कि नोटबंदी से कालाधन खत्म हो जाएगा, आतंकवाद पर लगाम लगेगा, फेक करंसी खत्म होगी आदि. हालांकि नोटबंदी को जिस तरह से लागू किया गया, उससे कई लोगों की मौत हुई.

प्रकाश जावड़ेकर प्रकाश जावड़ेकर

पंचायत आजतक के चौथे सेशन '19 का बॉस कौन!' में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और बीजेपी नेता प्रकाश जावड़ेकर ने हिस्सा लिया. इस सत्र में पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने नोटबंदी का मुद्दा उठाया तो प्रकाश जावड़ेकर ने सफाई दी कि ये नोटबंदी कालेधन के ख‍िलाफ पहली मुहीम थी.

बीजेपी से पहले की सरकारों के मंत्रालयों में खुलेआम दलाली होती थी. ऐसे में हम कई योजना लेकर आए. राजीव गांधी कहते थे हम गरीब को 100 रुपये भेजते हैं तो 15 रुपये पहुंचते हैं. अब मोदी सरकार में 100 रुपये भेजते हैं तो 100 रुपये पहुंचते थे.

इस मुद्दे पर दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया कि पीएम मोदी की सूटबूट की सरकार है. साथ ही नोटबंदी का मुद्दा भी उठाया. दिग्विजय ने कहा कि मोदी ने कहा कि नोटबंदी से कालाधन खत्म हो जाएगा, आतंकवाद पर लगाम लगेगा, फेक करेंसी खत्म होगी आदि. हालांकि नोटबंदी को जिस तरह से लागू किया गया, उससे कई लोगों की मौत हुई. बिना कोई तैयारी किए लागू करने से लाखों लोगों को परेशानी हुई. कांग्रेस नेता ने कहा कि नोटबंदी से भ्रष्टाचार के खत्म होने के दावे किए गए थे. लेकिन उसकी तैयारी क्या की थी, 80 प्रतिशत करेंसी बाजार से हटाकर आपने 15 लाख लोगों के रोजगार छीन लिए हैं. बताना चाहता हूं कि नोटबंदी से लोग घंटों लाइनों में खड़े रहे और उनकी जानचली गई. आलम ये रहा कि 50 दिन में 66 बार नियम बदले. ऐसे में नोटबंदी से क्या फायदा हुआ.

इसके जवाब में प्रकाश जावड़ेकर ने सफाई दी कि नोटबंदी सीरीज ऑफ एक्शन का हिस्सा थी. 2011 में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि कालेधन बड़ी समस्या है. 3 साल कांग्रेस सरकार ने इस पर काम नहीं किया, बीजेपी सरकार आते ही एक्शन शुरू हुआ. नोटबंदी के बाद कई रिपोर्ट पर एक्शन हो रहा है. 3 लाख शेल कंपनियां नोटबंदी की वजह से बंद हुई. हालांकि देश में जुगाड़तंत्र हर कानून में कमी निकाल लेता है. इसके बावजूद मोदी सरकार ने कालेधन के ख‍िलाफ 3 कानून पास किए.

प्रकाश जावड़ेकर ने आरोप लगाया जैसे जैसे कालेधन पर लगाम लग रही है, कांग्रेस का विरोध बढ़ता जा रहा है. कि मोदी सरकार को कांग्रेस कालेधन के ख‍िलाफ काम नहीं करने दे रही है. व्हिसलब्लोअर प्रोटेक्शन कानून को कांग्रेस रोक रही है.

भ्रष्टाचार और काले धन के सवाल पर दिग्विजय ने चैलेंज करते हुए कहा कि इस मुद्दे पर अरुण जेटली और राम जेठमलानी की बहस करा दीजिए. डीजल और पेट्रोल पर मोदी सरकार ने टैक्स बढ़ा दिया, लेकिन इसकी मार किस पर पड़ी.

आपको बता दें कि आज मोदी सरकार के चार साल पूरे हो गए हैं. इस मौके पर जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत उनकी कैबिनेट के मंत्री और बीजेपी नेता सरकार की उपलब्धियां जनता सामने रखेंगे, वहीं 'आजतक' ने भी इस अवसर पर पंचायत बुलाई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें