scorecardresearch
 

स्पीक एशिया की स्कीम के ‘पेनलिस्ट’ गिरफ्तार

पुलिस ने सिंगापुर स्थित आनलाइन सर्वे कंपनी स्पीक एशिया की विवादास्पद मल्टी लेवेल स्कीम के एक ‘पेनलिस्ट’ को गिरफ्तार किया. स्पीक एशिया ने कथित तौर पर देशभर में 12 लाख निवेशकों को 1,300 करोड़ रुपये चूना लगाया है.

स्पीक एशिया स्पीक एशिया

पुलिस ने सिंगापुर स्थित आनलाइन सर्वे कंपनी स्पीक एशिया की विवादास्पद मल्टी लेवेल स्कीम के एक ‘पेनलिस्ट’ को गिरफ्तार किया. स्पीक एशिया ने कथित तौर पर देशभर में 12 लाख निवेशकों को 1,300 करोड़ रुपये चूना लगाया है.

इसके साथ ही, इस मामले में गिरफ्तार किए गए लोगों की संख्या पांच पर पहुंच गई है.

स्पीक एशिया ने एक मल्टी मार्केटिंग पिरामिड माडल के जरिए निवेशकों को आकषर्क रिटर्न देने का वादा किया था. कंपनी ने नए सदस्य बनाने पर निवेशकों को कमीशन देने का आश्वासन देकर कथित तौर पर उनके साथ धोखाधड़ी की.

अपर पुलिस आयुक्त राजवर्धन ने बताया, ‘दीपांकर को रायपुर में पकड़ा गया और फिर उसे मुंबई लाकर गिरफ्तार किया गया. वह स्कीम में निवेश करने वाले पहले व्यक्तियों में से है. सरकार ने बाद में इस विवादित स्कीम को बढ़ावा देना जारी रखा.’ पुलिस ने कल स्पीक एशिया के मुख्य परिचालन अधिकारी तारक बाजपेयी, वित्तीय प्रबंधक रवि खन्ना, वेबपोर्टल के टेक्नीशियन राजीव मल्होत्रा और रायस खास को गिरफ्तार किया.

उल्लेखनीय है कि एक निवेशक की शिकायत के आधार पर आर्थिक अपराधा शाखा द्वारा इस मामले में एफआईआर दर्ज किया गया. इस निवेशक को स्पीक एशिया में विभिन्न निवेशों में कम से कम छह लाख रुपये का नुकसान हुआ है.

भारतीय मूल की हरेन कौर, कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकार :भारत: मनोज कुमार शर्मा और इस करोड़ों रुपये के घोटाले में कथित तौर पर शामिल अन्य लोग फरार हैं.

पुलिस ने कहा कि स्पीक एशिया में अभी तक कुल 1,320 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है. निवेशकों को कुछ रिटर्न देने के बाद भी यह कम से कम 1,300 करोड़ रुपये का घोटाला है.

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो देखने के लिए जाएं http://m.aajtak.in पर.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें