scorecardresearch
 

जब कई पुरुष धड़ल्‍ले से हुए गर्भवती...

क्या कभी आपने सुना है पुरुषों के गर्भवती होने की खबर? क्या कभी आपने सुना है एक महिला ने एक दिन में 11 बार बच्चे को जन्म दिया हो? क्या आपने सुना है एक महिला 9 महीने की बजाए 6 महीने या फिर 5 महीने में ही मां बन जाए? नहीं ना, लेकिन उदयपुर के कोटडा स्वास्थ्य केन्द्र ने ये सब कारनामा कर दिखाया है.

X
धोखाधड़ी का नायाब नमूना धोखाधड़ी का नायाब नमूना

क्या कभी आपने सुना है पुरुषों के गर्भवती होने की खबर? क्या कभी आपने सुना है एक महिला ने एक दिन में 11 बार बच्चे को जन्म दिया हो? क्या आपने सुना है एक महिला 9 महीने की बजाए 6 महीने या फिर 5 महीने में ही मां बन जाए? नहीं ना, लेकिन उदयपुर के कोटडा स्वास्थ्य केन्द्र ने ये सब कारनामा कर दिखाया है.

चौंकिए मत, देश में चल रही स्वास्थ्य योजनाओं में घोटाले की काली हकीकत ने सब कुछ मुमकिन कर दिखाया. कोटडा स्वास्थ्य केन्द्र की एक एएनएम रेखा भाटी ने जननी सुरक्षा योजना के नाम पर फर्जीवाड़ा कर सरकारी खजाने से लाखों रुपए उड़ा लिए और जिनके लिए ये योजना थी, वो मुंह ताकते रह गए.

रेखा भाटी ने 32 पुरुषों को गर्भवती बताकर, एक महिला की एक दिन में 11 बार डिलीवरी कराकर, 62 साल की बुजुर्ग को प्रसूता बताकर फर्जी नाम से योजना का चेक उड़ाती रही. आसपास के गांववालों को पता भी नहीं चला वो कब बाप बने और कब मां.

रेखा भाटी ने सीतादेवी के नाम पर 24 बार और रूपा राम के नाम पर 15 बार 1700 रुपए का चेक उड़ाया. सिंगरी बाई अभी गर्भवती है, लेकिन इसकी डिलीवरी का पैसा पहले ही उड़ा लिया गया है. स्वास्थ्य विभाग की नींद तब खुली जब रेखा भाटी ने चंद महीनों में ही ढाई सौ से ज्यादा प्रसव करा डाले.

फिलहाल रेखा भाटी फरार है और स्वास्थ्य विभाग की टीम पूरे मामले को खंगाल रही है. मामले की पुलिस रिपोर्ट भी दर्ज कराने की तैयारी है, लेकिन सवाल यह उठता है कि गरीब जनता के लिए बनाई सरकारी योजनाओं को कब तक लालफीताशाही कब तक घुन की तरह खाती रहेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें