scorecardresearch
 

पेट्रोल के बाद डीजल, रसोई गैस में लगेगी 'आग'

पेट्रोल के दामों में पिछले सप्ताह 5 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी के बाद सरकार ने कहा कि मंत्रियों का समूह डीजल, एलपीजी और केरोसिन के दाम बढ़ाने पर निर्णय करने के लिए इसी सप्ताह बैठक कर सकता है.

पेट्रोल के दामों में पिछले सप्ताह 5 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी के बाद सरकार ने कहा कि मंत्रियों का समूह डीजल, एलपीजी और केरोसिन के दाम बढ़ाने पर निर्णय करने के लिए इसी सप्ताह बैठक कर सकता है.

वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी की अध्यक्षता में मंत्रियों का अधिकार प्राप्त समूह डीजल की कीमत 4 रुपये प्रति लीटर और एलपीजी की कीमत 25 रुपये प्रति सिलेंडर बढ़ाने की पेट्रोलियम मंत्रालय की मांग पर विचार कर सकता है.

यहां आईसीएआर-सीआईआई के एक कार्यक्रम के दौरान कृषि मंत्री शरद पवार ने संवाददाताओं को बताया, ‘मुझे लगता है कि डीजल कीमत निर्धारण पर मंत्रियों के अधिकार प्राप्त समूह की बैठक इसी सप्ताह होगी.’ यह पूछे जाने पर कि क्या मुद्रास्फीति में तेजी को देखते हुए सरकार डीजल की कीमतें बढ़ाने पर निर्णय कर सकती है.

उन्होंने कहा, ‘मैं अभी प्रतिक्रिया नहीं दे सकता क्योंकि हमें स्थिति का आकलन करना है..’ ‘..हमें देखना है कि पेट्रोलियम कंपनियों को आय हो रही है या नुकसान. हमें यह भी देखना है कि खाड़ी देशों में हाल ही में हुए घटनाक्रमों ने भारत के लिए क्या समस्याएं खड़ी की हैं.’

उल्लेखनीय है कि अप्रैल में मुद्रास्फीति 8.66 प्रतिशत रही. मंत्रियों के अधिकार प्राप्त समूह की बैठक 11 मई को होनी थी, लेकिन यह बैठक टाल दी गई और बैठक की नयी तारीख की सूचना अभी तक नहीं दी गई है. तेल कंपनियों को दिल्ली में 37.75 रुपये प्रति लीटर के दाम में डीजल की बिक्री करने से इस समय 18.19 रुपये प्रति लीटर का नुकसान हो रहा है. इसके अलावा, केरोसिन पर उन्हें 29.69 रुपये प्रति लीटर और 14.2 किलोग्राम के घरेलू एलपीजी सिलेंडर पर 329.73 रुपये प्रति सिलेंडर का नुकसान उठाना पड़ रहा है.

हाल ही में वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने कहा था कि डीजल की कीमत निर्धारण पर अधिकार प्राप्त मंत्रियों के समूह की बैठक इसी सप्ताह होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें