scorecardresearch
 

नर्स गुमशुदगी का ‘भंवर’ मदेरणा को ले डूबा

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लापता नर्स भंवरी देवी प्रकरण में फंसे राजस्थान के जल संसाधन मंत्री महिपाल मदेरणा को मंत्रिमण्डल से बर्खास्‍त कर दिया है.

महिपाल मदेरणा महिपाल मदेरणा

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लापता नर्स भंवरी देवी प्रकरण में फंसे राजस्थान के जल संसाधन मंत्री महिपाल मदेरणा को मंत्रिमण्डल से बर्खास्‍त कर दिया है.

गहलोत ने मदेरणा को बर्खास्‍त करने की सिफारिश राज्यपाल शिवराज पाटिल को भेज दी. जानकार सूत्रों ने यह जानकारी दी.

 

चेहरा पहचानें, जीतें ईनाम. भाग लेने के लिए क्लिक करें

गहलोत ने नर्स भंवरी देवी प्रकरण में फंसे महिपाल मदेरणा को 14 सितम्बर को ही इस मामले की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो को सौंपने के वक्त ही अपने पद से त्यागपत्र देने की सलाह दी थी.

गहलोत ने शनिवार रात मिलने आये महिपाल मदेरणा को मंत्रीपद से इस्तीफा देने की फिर सलाह दी थी, लेकिन इसके बावजूद इस्तीफा नहीं देने पर रविवार को उन्हें मंत्रिमण्डल से बर्खास्‍त कर दिया गया.

आजतक LIVE TV देखने के लिए यहां क्लिक करें
जोधपुर जिले में बिलाडा के स्वास्थ्य केन्द्र में काम करने वाली नर्स भंवरी देवी गत एक सितम्बर को संदिग्घ परिस्थितियों में लापता हो गई थी. भंवरी देवी के पति अमर चंद बिलाडा थाने में भंवरी देवी के लापता होने और उसकी गुमशुदगी में राजस्थान के जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री महिपाल मदेरणा का हाथ होने संबंधी मामला दर्ज करवाने गये, लेकिन पुलिस ने यह मामला दर्ज नहीं किया.

सूत्रों ने बताया कि मदेरणा ने शनिवार रात मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से भी मुलाकात की और उन्हें इस्तीफे देने की सलाह फिर दी गई. राजस्थान उच्च न्यायालय ने भी प्रदेश सरकार को आड़े हाथों लिया था और मामले को सुलझाने की सरकार की नियत पर सवाल उठाए.

खंडपीठ ने भंवरी देवी के पति द्वारा दायर बंदी प्रत्यक्षीकरण की एक याचिका की सुनवाई करने के दौरान सरकार की नियत पर सवाल खड़ा किया. अदालत ने टिप्पणी की कि सरकार मंत्री को बचाने का प्रयत्न कर रही है और कहा कि यह जिम्मेदारियों से पलायन है. सीबीआई ने 11 अक्तूबर को भंवरी के लापता होने की जांच शुरू की जिसमें मदेरणा के शामिल होने का आरोप लगाया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें