scorecardresearch
 

मिशन 2019 के लिए BJP का रोडमैप तैयार, नेताओं को मिले ये निर्देश

भाजपा ने अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव और इस साल के अंत तक मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कमर कसते हुए अपनी तैयारियों एवं संगठनात्मक स्थिति पर अपने शासन वाले राज्यों के मुख्यमंत्रियों एवं शीर्ष नेतृत्व के साथ मंथन किया.

भाजपा की बैठक भाजपा की बैठक

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने लोकसभा और विधानसभा चुनावों को लेकर रूपरेखा तैयार कर ली है. भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक में मंगलवार को केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं के बारे में लोगों को जानकारी देने के तौर-तरीके पर चर्चा की गई.

बैठक में तय किया गया कि केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं का प्रचार प्रसार ज्यादा से ज्यादा किया जाए ताकि लोगों तक लाभ पहुंचे, उन्हें इनके बारे में जानकारी मिले. इस दौरान संगठन और सरकार को लेकर भी चर्चा की गई.

मुख्यमंत्रियों और उप मुख्यमंत्रियों को कहा गया कि केंद्र और राज्य सरकार की जितनी योजनाएं हैं, उसके लाभार्थियों से समय-समय पर संपर्क किया जाए. इसके लिए इन लाभार्थियों के नंबर और पते एकत्रित करने के सिलसिले में निर्देश दिए गए हैं.

सूत्रों के मुताबिक 20 करोड़ से ज्यादा लोग केंद्र और भाजपा शासित राज्य सरकार की योजनाओं के लाभार्थी हैं. बैठक में केंद्र की 12 योजनाओं को लोगों तक कैसे पहुंचाया जाए, इस पर चर्चा की गई. इसकी रूपरेखा भी प्रस्तुत की गई. इस संबंध में एक प्रस्तुतिकरण दिया गया.

बैठक में केंद्र सरकार की सभी योजनाओं का राज्यों के मुख्यमंत्रियों से फीडबैक और डेटा लिया गया. साथ ही यह भी कहा गया कि 2019 लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सरकार और संगठन को और मजबूत किया जाए.

चुनावी राज्य मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के अंदर जितने भी राजनीतिक पद सरकार के अंदर खाली हैं, उसे जल्द भरने को कहा गया है. मुख्यमंत्रियों को निर्देश दिए गए हैं कि ज्यादा से ज्यादा कार्यकर्ताओं को सरकार की योजनाओं से जोड़ा जाए. बैठक में 15 मुख्यमंत्रियों और 7 उपमुख्यमंत्रियों ने शिरकत की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें