scorecardresearch
 

हाथों में 12, पैरों में 14 उंगलियां, गिनीज बुक में जुड़ सकता है ये अजूबा

म्यांमार में जन्मी ली याति मिन के पैदा होने के दिन से उसकी मां जानती थी कि उनकी पुत्री में कुछ खास है, लेकिन वह यह नहीं जानती थीं कि उनकी पुत्री दुनिया में इतनी खास होने वाली है. हाथों में 12 और पैरों में 14 उंगलियों के साथ पैदा हुई 16 महीने की ली के परिवार वाले अब उसका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराने के प्रयास में जुटे हैं.

म्यांमार में जन्मी ली याति मिन के पैदा होने के दिन से उसकी मां जानती थी कि उनकी पुत्री में कुछ खास है, लेकिन वह यह नहीं जानती थीं कि उनकी पुत्री दुनिया में इतनी खास होने वाली है. हाथों में 12 और पैरों में 14 उंगलियों के साथ पैदा हुई 16 महीने की ली के परिवार वाले अब उसका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराने के प्रयास में जुटे हैं.
 ली के परिवार के एक पड़ोसी ने इस बच्ची का नाम इस रिकॉर्ड पुस्तिका में शामिल कराने के लिए प्रयास किए हैं. वर्तमान में यह रिकार्ड भारत के एक लड़के के नाम दर्ज है, जिसके हाथों में 12 और पैरों में 13 उंगलियां हैं. अतिरिक्त अंगुली और पंजों के साथ पैदा होने वाले बच्चों की इस असामान्यता को पॉलीडैक्टिलिज्म के नाम से जाना जाता है. आमतौर पर यह असामान्यता दुर्लभ है, लेकिन किसी के हाथ और पैर दोनों में अतिरिक्तता होना और भी ज्यादा दुर्लभ श्रेणी में आता है. ली की मां फायो मिन मिन सो अब अपनी पुत्री का नाम वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होते देखना चाहती है. उनकी पुत्री को प्रकृति के इस तोहफे के रूप में कई अतिरिक्त लाभ भी मिले हुए हैं. फायो ने बताया, ‘‘वह चीजों को ज्यादा मजबूती से पकड़ सकती है, इसलिए उसके हाथ से चीजें गिरती नहीं हैं.’’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×