scorecardresearch
 

राजस्थान में बढ़ रहा है पुरुष वेश्यावृति का धंधा: महिला आयोग

राजस्थान राज्य महिला आयोग ने भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगते जैसलमेर जिले में बढती पुरुष वेश्यावृत्ति पर चिंता जताई है. आयोग ने कहा कि विदेशी पर्यटकों की वजह से यह हालात पैदा हो रहे हैं. आयोग के मुताबिक 12वीं के एक छात्र ने खुद का लंबे समय से देहशोषण होने की जानकारी दी है.

Symbolic Image Symbolic Image

राजस्थान राज्य महिला आयोग ने भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगते जैसलमेर जिले में बढती पुरुष वेश्यावृत्ति पर चिंता जताई है. आयोग ने कहा कि विदेशी पर्यटकों की वजह से यह हालात पैदा हो रहे हैं. आयोग के मुताबिक 12वीं के एक छात्र ने खुद का लंबे समय से देहशोषण होने की जानकारी दी है.

राजस्थान राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष लाड कुमारी जैन ने बताया कि वेश्यावृत्ति के हालात जानने के लिए जब आयोग की टीम जैसलमेर पहुंची तो बारहवीं कक्षा में पढने वाले एक छात्र ने खुद का लंबे समय से देहशोषण होने की जानकारी दी. छात्र का शारीरिक शोषण करने वाला अभियुक्त अभी जेल में है. उन्होंने बताया कि पुरुष वेश्यावृत्ति के कारोबार से जैसलमेर स्थित किले के उपरी क्षेत्र में रहने वाले एक समुदाय के पुरुष लंबे समय से जुड़े हुए हैं. इनका देहशोषण करने वालों में विदेशी पर्यटकों की संख्या बहुत ज्यादा है.

जैन ने लोगों से मिली जानकारी के हवाले से बताया कि जैसलमेर के सम के धौरों में एक समुदाय से ताल्लुक रखने वाले पुरुष और महिलाएं वेश्यावृत्ति के धंधे में लिप्त हैं. महिलाओं के साथ-साथ पुरुष वेश्यावृत्ति भी इस क्षेत्र में तेजी से बढ रही है. उन्होंने बताया कि जोधपुर, उदयपुर, जैसलमेर के कुछ होटल और इनके कमरे वेश्यावृत्ति (महिला और पुरूष) के लिए चिन्हित हैं. इस बारे में लोगों ने ही महिला आयोग के सदस्यों को जानकारी दी.v उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश में तेजी से बढ रहे पर्यटन, भूमि कारोबार, खान, उद्योग की वजह से महिला वेश्यावृत्ति में काफी बढोत्तरी हो रही है, लेकिन इसके साथ ही पुरुष वेश्यावृत्ति का बढना चिंता का विषय है. उन्होंने बताया कि सीमावर्ती इलाके के अलावा राजधानी से लगते फागी में भी एक समाज के कुछ परिवारों के पुरुष इस काम में लगे हुए हैं, जबकि महिलाएं पहले से ही इस धंधे में लिप्त हैं.

राष्ट्रीय महिला आयोग को भेजेंगे रिपोर्ट
आयोग की अध्यक्ष ने बताया कि प्रदेश में जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर, उदयपुर, पाली, अजमेर, किशनगढ, सिरोही, बांसवाडा और टोंक में यह काराबोर तेजी से बढ रहा है. उन्होंने कहा, 'स्वयं मैनें और आयोग की सदस्याओं दमयंती बाकोलिया, रूपा तिवाड़ी और लता प्रभाकर ने वेश्यावृत्ति की स्थिति पर रिपोर्ट तैयार करने के लिए प्रदेश के भ्रमण के दौरान लोगों से यह जानकारियां एकत्र की हैं. आयोग शीघ्र ही रिपोर्ट तैयार कर राष्ट्रीय महिला आयोग और संबंधि‍त एजेंसियों को भेजेगा.'

जयपुर के एक स्वयंसेवी संगठन की पदाधिकारी निशा सिद्धु ने भी महिला वेश्यावृत्ति के साथ पुरुष वेश्यावृत्ति के बढ़ने के तथ्य को स्वीकारते हुए बताया, 'हमारे संगठन के पास भी तीन-चार मामले पुरुष वेश्यावृत्ति के आए थे. लेकिन इस संबंध में पुलिस अधीक्षक से सम्पर्क नहीं हो सका.'

-इनपुट भाषा से

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें