scorecardresearch
 

राजस्थानः 'आबादी बढ़ गई, इसलिए टीका लगाकर मार रहे हैं', कोरोना वैक्सीन के विरोध में महिला का कुतर्क

राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के एक गांव का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक महिला न सिर्फ वैक्सीन का विरोध कर रही है, बल्कि महिला स्वास्थ्य कर्मी को गाली भी दे रही है. लाख समझाने के बाद महिला ने न तो खुद वैक्सीन ली और न ही परिवार के किसी सदस्य को लगाने दी.

महिला के कुतर्क का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है (फोटो- वायरल वीडियो स्क्रीनशॉट) महिला के कुतर्क का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है (फोटो- वायरल वीडियो स्क्रीनशॉट)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भीलवाड़ा जिले के जहाजपुर का वीडियो वायरल
  • महिला का कुतर्क, टीका लगा तो बच्चे पैदा नहीं होंगे
  • बोली- मारने के लिए टीका लगा रहे हैं

एक तरफ राजस्थान में फ्री कोरोना वैक्सीन को लेकर राज्य सरकार और केंद्र सरकार में जमकर राजनीति हुई तो दूसरी तरफ भीलवाड़ा जिले के सुदूर गांव में कोरोना वैक्सीन को लेकर ग्रामीणों में अज्ञानता के कारण इसके विरोध की तस्वीरें सामने आ रहीं हैं. यहां की महिलाएं न सिर्फ कोरोना वैक्सीन का विरोध कर रही हैं, बल्कि महिला स्वास्थ्य कर्मियों के साथ गाली-गलौज भी कर रही हैं.

भीलवाड़ा जिले के जहाजपुर उपखंड का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें महिला स्वास्थ्य कर्मी जब गांव में घर के बाहर खड़ी होकर परिवार की मुखिया से कोरोना का टीका लगवाने का आग्रह कर रही है तो महिला उसे न केवल टीका लगवाने के लिए मना कर रही है बल्कि उसे गाली देते हुए यह भी कुतर्क कर रही है कि सरकार जनसंख्या घटाने के लिए कोरोना का टीका लगवा कर हमें मारना चाहती है. हमें नहीं लगवाना है कोरोना का टीका. यही नहीं महिला स्वास्थ्य कर्मी जब उसे यह समझा रहे हैं कि आपके परिवार में और भी लोग हैं उन्हें टीका लगा लेने दो तो वो मना करती हुए कहती है कि हमें किसी को भी नहीं लगवाना है.

स्वास्थ्य कर्मी जब इस महिला को कोरोना के खतरे के बारे में बताती है तो वो कहती है कि यहां सब ठीक रहते हैं अस्पताल में जाकर लोग मर रहे हैं, वहां कोरोना कैसे हो जाता है? महिला तो यहां तक कह देती है कि गली में जब कुत्ते की मौत हो जाती है तो बस्ती के लोग मिलकर उसे भी बाहर फेंक देते हैं. आप मेरी चिंता मत करो मुझे नहीं लगवाना है कोरोना का टीका.

राजस्थान: वैक्सीनेशन को लेकर ग्रामीणों में खौफ, बीमारी का डर, कैसे होगा सबका टीकाकरण?

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस अज्ञानता के वीडियो के कुछ प्रमुख अंश इस प्रकार है
महिलाः
हमारे यहां खूब मर गए बेचारे... मैं तो ऐसा काम नहीं करूं... का टीका लगवाया तो वो.......... (गाली) आदमियों को मार रहे है.... जनता बढ़ गई है...वो कमा कर खिला रहे हैं क्या?

महिला स्वास्थ्य कर्मीः ऐसा नहीं है...

महिलाः हम सब जानते हैं जनता खूब बढ़ गई है इसलिए उसे घटाने के लिए ये टीके लगवा कर मारना चाहते हैं... यहां घर पर तो नहीं मर रहे हैं...और हॉस्पिटल में जाते ही कोरोना हो जाता है... मैं तो आपके हाथ जोड़ती हूं... मैं मर जाऊंगी तो घर पर मर जाऊंगी लेकिन कोरोना का टीका नहीं लगाऊंगी....कुत्ता ही जब मर जाता है तो बस्ती के लोग उसे भी बाहर फेंक देते हैं... आप मेरी चिंता मत करो मैं मर जाऊंगी तो बस्ती के लोग ले जाएंगे....

महिला स्वास्थ्य कर्मीः आपकी वजह से और लोग परेशान हो जाएंगे...

महिलाः मैं कहीं जा रही हूं क्या? मैं आपकी जेब में हूं क्या? कोई बात नहीं. मुझे कोरोना हो जाने दो...

महिला स्वास्थ्य कर्मी: आपके बच्चे परिवार का तो ध्यान रखो...

महिला: कोई बात नहीं. हो जाएगा तो हो जाएगा... मुझे नहीं लगवाना है....

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें