scorecardresearch
 

राजस्थान: नागौर में दलित युवकों पर बर्बरता, रोते-रोते बताई जुल्म की दास्तां

राजस्थान के नागौर में दो दलित युवकों को चोरी के आरोप में बेरहमी से पीटा गया. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद मामाला खुला. दोनों दलित युवकों ने आज तक से बातचीत की.

नागौर में दलितों युवकों पर किया गया अत्याचार (वायरल वीडियो का स्क्रीनशॉट) नागौर में दलितों युवकों पर किया गया अत्याचार (वायरल वीडियो का स्क्रीनशॉट)

  • राजस्थान के नागौर में दलितों पर हुआ था अत्याचार
  • चोरी के आरोप में दो दलित युवकों को पीटा गया था

राजस्थान के नागौर जिले में चोरी के आरोप में दो दलित युवकों की बेरहमी से पिटाई की गई. दरिंदों ने इस पिटाई का वीडियो भी बनाया. वीडियो जब सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो लोग हैरान रह गए और देश में एक बार फिर दलित उत्पीड़न को लेकर बहस शुरू हो गई. वीडियो में दिखा कि दरिंदो ने दलित युवकों के प्राइवेट पार्ट में पेट्रोल डाला और स्क्रूड्राइवर का भी इस्तेमाल किया. दोनों दलित युवकों ने आज तक के साथ अपना दर्द बयां किया.

आज तक के साथ हुई बातचीत के दौरान दोनों दलित युवकों ने कहा कि उनके बाइक की दो-तीन इंस्टालमेंट (ईएमआई) बकाया थी. जिसे जमा करने के लिए वो लोग वहां गए हुए थे. उस दौरान वहां कुछ कहासुनी हो गई. जिसके बाद वहां मौजूद लोगों ने दोनों युवकों की बेरहमी से पिटाई कर दी.

युवक ने आज तक के साथ शेयर किया अपना दर्द

एक दलित युवक ने कहा, "मुझे बेरहमी से पीटा गया. पेट्रोल डाला गया. मुझको पीटा गया और पैसे चुराने का आरोप लगाया गया. मुझे अभी भी दर्द महसूस हो रहा है, पूरे शरीर में दर्द हो रहा है." युवक ने आगे कहा, "आरोपियों ने हमें बंदी बना रखा था और 5100 रुपये दिए जाने के बाद ही हमें छोड़ा गया. हम चाहते हैं कि आरोपियों को सजा मिले."

यह भी पढ़ें: चोरी के आरोप में दलित युवकों से बर्बरता, गहलोत सरकार से बोले राहुल- तुरंत लें एक्शन

युवक ने आज तक से बातचीत के दौरान आगे कहा, "उन लोगों ने वीडियो बना कर रख लिया था जिसे उन्होंने एक या दो दिन बाद लोगों को भेजा." अपना दुख शेयर करते हुए दलित युवक ने कहा, "यह एक बहुत बुरा अनुभव था. हमे क्रूरता से टॉर्चर किया गया था. थाने गए थे, 19 तारीख को रिपोर्ट दर्ज हुई थी. मामले के आरोपियों को सजा मिलनी चाहिए, कार्रवाई होनी चाहिए. मुझे अत्यधिक पीड़ा से गुजरना पड़ा. मेरे साथ मारपीट की गई, गाली दी गई."

nagaur_youth_022120020658.jpg

अपना दुख शेयर कर रो पड़ा युवक

युवक ने आगे कहा, "मैंने पहले घर पर किसी को इस बारे में नहीं बताया था लेकिन जब वीडियो वायरल हुआ तो लोगों को इसके बारे में पता चला. जिसके बाद मैं परिवार के सदस्यों के साथ पुलिस स्टेशन गया." इसके बाद युवक ने सवाल किया, "आपने वीडियो देखे हैं" और रोने लगा.

दलित युवकों के पिता ने बताया- मिली है जान से मार देने की धमकी

दूसरे युवक ने आज तक से बातचीत के दौरान कहा, "कैमरा चालू कर हमें चोरी करने के लिए कहा गया. हमें बेरहमी से पीटा गया." दलित युवकों के पिता ने कहा, "हम डरे हुए हैं. थाना प्रभारी ने उन लोगों को रात में उठाया और सुबह छोड़ दिया. सरकार ने उन्हें आरोपी बनाया है. आरोपी के रिश्तेदार ने कहा है कि 80,000 रुपये लो और मामला खत्म करो, नहीं तो जान से मार देंगे."

यह भी पढ़ें: नागौर केस को लेकर पायलट का गहलोत पर निशाना, कहा- आत्म चिंतन करना होगा

क्या है मामला और कहां का है वीडियो?

ये वीडियो राजस्थान के नागौर जिले का है. पांचौड़ी थाना क्षेत्र के करणु सर्विस सेंटर में दो युवकों पर चोरी करने का आरोप लगाया गया था. जिसके बाद सर्विस सेंटर के वर्कर्स ने दोनों को पीटा. जानकारी के मुताबिक दो दलित युवक सर्विस सेंटर पर किसी काम से गए थे. इस मामले में केस दर्ज कर लिया गया है और कार्रवाई की जा रही है. नागौर के ASP राजकुमार के मुताबिक, ये वीडियो 16 फरवरी का है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें