scorecardresearch
 

राजस्थान: संविधान पर चर्चा के दौरान गोलवलकर पर भिड़े कांग्रेस-बीजेपी के विधायक

राजस्थान विधानसभा का दो दिवसीय विशेष सत्र संविधान पर चर्चा के लिए बुलाया गया था. जहां पर सदन में कई बार कांग्रेस और बीजेपी के सदस्य एक दूसरे से भिड़ते नजर आए. संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने चर्चा के दौरान यह कहकर हंगामा मचा दिया कि संघ के गुरु गोलवलकर की शाखाओं में राष्ट्रीय ध्वज नहीं फहराया जाता था.

राजस्थान विधानसभा का विशेष सत्र (फाइल फोटो) राजस्थान विधानसभा का विशेष सत्र (फाइल फोटो)

  • राजस्थान विधानसभा के विशेष सत्र में संविधान पर चर्चा
  • संविधान पर चर्चा के दौरान भिड़े बीजेपी-कांग्रेस सदस्य

राजस्थान विधानसभा का दो दिवसीय विशेष सत्र संविधान पर चर्चा के लिए बुलाया गया था. जहां पर सदन में कई बार कांग्रेस और बीजेपी के सदस्य एक दूसरे से भिड़ते नजर आए. संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने चर्चा के दौरान यह कहकर हंगामा मचा दिया कि संघ के गुरु गोलवलकर की शाखाओं में राष्ट्रीय ध्वज नहीं फहराया जाता था.

इसे लेकर बीजेपी के सदस्यों ने हंगामा मचाया और सदन में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि उनके पास भी कई तरह की चिट्ठियां हैं जो कि कांग्रेस को बेनकाब कर देगी, लेकिन यहां चर्चा संविधान पर हो रही है इसलिए इस तरह की बातें नहीं की जानी चाहिए.

शांति धारीवाल यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका जाते हैं वहां पर अमेरिका के राष्ट्रपति उनके बगल में बैठकर उन्हें राष्ट्रपिता कहता है, मगर वह चुप रहते हैं यही संविधान की धज्जियां उड़ाना हुआ.

गोडसे को देशभक्त कहे जाने पर पायलट का हमला

उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने संसद में नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताए जाने के खिलाफ भी बोला और कहा कि इस तरह की बातें निंदनीय हैं. सचिन पायलट ने कहा कि संविधान को हाथ में लेकर काम करने से काम नहीं चलेगा, इसको आत्मसात करना चाहिए. पायलट ने कहा कि जो भी महाराष्ट्र में किया गया वह संविधान का धज्जियां उड़ाना ही था, मगर हमें सुप्रीम कोर्ट का शुक्रिया करना चाहिए,उनकी वजह से संविधान बचा है.

राष्ट्रवाद के मुद्दे पर बीजेपी पर हमला बोलते हुए पायलट ने कहा कि राष्ट्रवाद यह है कि हम गरीबी से लड़ें, राष्ट्रवाद यह है कि हम भुखमरी से लड़े.

राज्य के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने इस मौके पर नाथूराम गोडसे का समर्थन करने वाले के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित करने का सुझाव दिया. इस मौके पर बीजेपी के विधायक अशोक लाहोटी ने कहा कि ऐसा कहा जाता है कि बीजेपी का कोई योगदान नहीं है, मगर स्वतंत्रता संग्राम में हमारे नेता केशव बलिराम हेडगेवार स्वतंत्रता सेनानी थे.

बीजेपी विधायक रामलाल शर्मा ने सदन में बार-बार अजित पवार का मुद्दा उठाए जाने पर जवाब देते हुए कहा कि सचिन पायलट अगर हमारे पास आना चाहे और समर्थन करना चाहे तो उन पर विश्वास करना पड़ेगा. वो भी उपमुख्यमंत्री हैं और अगर वह कहें कि हमारे पास इतने विधायक हैं तो हमें उन पर विश्वास करना पड़ेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें