scorecardresearch
 

राजस्थान: गहलोत सरकार ने पलटा वसुंधरा का फैसला, मातृ-पितृ दिवस मनाने पर लगी रोक

राजस्थान में जब बीजेपी की सरकार थी तब वैलेंटाइन डे की जगह मातृ-पितृ दिवस मनाने का आदेश जारी किया था. हालांकि, अब राज्य में कांग्रेस की सरकार है और इस सरकार ने आज के दिन मातृ-पितृ दिवस मनाने के आदेश को ये कहते हुए खारिज कर दिया कि उनके लिए कोई एक दिन नहीं, बल्कि हर दिन होना चाहिए.

राजस्थान में वैलेंटाइन डे के दिन माता-पिता दिवस मनाने पर रोक (प्रतीकात्मक फोटो) राजस्थान में वैलेंटाइन डे के दिन माता-पिता दिवस मनाने पर रोक (प्रतीकात्मक फोटो)

  • राजस्थान के स्कूलों में वैलेंटाइन डे के दिन मनाया जाता था मातृ-पितृ दिवस
  • कांग्रेस सरकार ने लगाई रोक, कहा- माता-पिता के लिए हर दिन होना चाहिए

राजस्थान के स्कूलों में बीजेपी शासन के दौरान वैलेंटाइन डे के बदले मातृ-पितृ दिवस मनाया जाता था. वसुंधरा सरकार में जारी इस आदेश को अब राज्य में कांग्रेस शासित सरकार ने खत्म कर दिया है. हालांकि, धौलपुर जिले में प्रशासन ने स्कूलों में वैलेंटाइन डे के बदले मातृ-पितृ दिवस मनाया. इसे लेकर बीजेपी नेताओं ने धौलपुर के अधिकारियों का धन्यवाद किया. वहीं, बीजेपी ने मातृ-पितृ दिवस मनाने पर रोक के लिए कांग्रेस सरकार का विरोध किया है.

माता-पिता के पैर धोए थे

राजस्थान के स्कूलों में पिछली बार माता-पिता को बैठाकर पुत्र-पुत्रियों से पैर धुलवाए गए थे. बीजेपी सरकार ने वैलेंटाइन डे को पाश्चात्य संस्कृति करार देकर उसके बदले सरकारी स्कूलों में मातृ-पितृ दिवस मनाने की घोषणा की थी. मगर इस बार शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने इस पर रोक लगाते हुए कहा कि माता-पिता के लिए कोई दिन नहीं होता, माता-पिता की पूजा और सेवा के लिए हर दिन होना चाहिए. बीजेपी की सरकार नौटंकी करने के लिए इस तरह से वैलेंटाइन डे के दिन मातृ-पितृ दिवस कोशिश की थी, इसकी कोई जरूरत नहीं है.

ये भी पढ़ें- गहलोत सरकार ने योजना से हटाया गोलवलकर का नाम, BJP बोली- सत्ता में आए तो फिर बदल देंगे

जयपुर के स्कूलों में इस बार वैलेंटाइन डे के दिन केवल माता-पिता की सेवा करने की सीख प्रार्थना के दौरान दी गई, मगर वैलेंटाइन डे के बदले मातृ-पितृ दिवस नहीं मनाया गया. इस बारे में टीचरों का कहना था कि हमने पिछली बार मनाया था, लेकिन इस बार बच्चों के एग्जाम हैं.

वहीं, धौलपुर जिले में कलेक्टर के आदेश पर जिला शिक्षा अधिकारी ने सभी स्कूलों को वैलेंटाइन डे की जगह मातृ-पितृ दिवस मनाने के आदेश दिए थे, जिसकी वजह से कई जगह स्कूलों में आज यह मनाया गया.

ये भी पढ़ें- राजस्थान: अशोक गहलोत ने उठाए सवाल, कहा- पीएम मोदी नहीं निभा रहे राजधर्म

विधानसभा में बीजेपी के सदस्यों ने सरकार पर भारतीय संस्कृति का अपमान करने और पाश्चात्य संस्कृति का बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए कहा कि वैलेंटाइन डे के दिन मातृ-पितृ दिवस मनाने पर रोक ठीक नहीं है. पूर्व शिक्षा मंत्री और बीजेपी विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा कि वैलेंटाइन डे की वजह से देश के बच्चे बिगड़ रहे हैं, अगर स्कूलों में वैलेंटाइन डे नहीं मनाने की सीख दी जाएगी तो हमारी संस्कृति आगे बढ़ेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें