scorecardresearch
 

राजस्थान: कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने BJP नेता के कपड़े फाड़े, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

राजस्थान के श्रीगंगानगर में कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने बीजेपी नेता कैलाश मेघवाल के शुक्रवार को कपड़े फाड़ दिए. बीजेपी नेता महंगाई और सिंचाई को लेकर बीजेपी के विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने पहुंचे थे, तभी यह घटना हुई.

बीजेपी नेता कैलाश मेघवाल बीजेपी नेता कैलाश मेघवाल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • किसानों ने बीजेपी नेता कैलाश मेघवाल के कपड़े फाड़े
  • केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे किसान

राजस्थान के श्रीगंगानगर में कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने बीजेपी नेता कैलाश मेघवाल (BJP Leader Kailash Meghwal) के शुक्रवार को कपड़े फाड़ दिए. मेघवाल महंगाई और सिंचाई को लेकर बीजेपी के विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने पहुंचे थे, तभी यह घटना हुई. पुलिस को मामले को शांत कराने के लिए लाठीचार्ज भी करना पड़ा.

केंद्र सरकार ने पिछले साल तीन नए कृषि कानून बनाए थे, जिसके बाद कई राज्यों में किसानों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था. किसान राज्यों के अलावा, दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर भी आठ महीनों से प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों की मांग सरकार के कृषि कानूनों को रद्द करने और एमएसपी पर कानून बनाने की है.

हरियाणा, पंजाब, राजस्थान आदि के राज्यों में किसान संगठनों ने बीजेपी नेताओं का विरोध करने की बात की है. जब बीजेपी नेता मेघवाल एक प्रदर्शन में शामिल होने के लिए गए थे, उसी समय यह घटना हुई.

बीजेपी नेता कैलाश मेघवाल
बीजेपी नेता कैलाश मेघवाल

कैलाश मेघवाल से हुई अभद्रता के फौरन बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई और हालात को काबू करने की कोशिश करने लगी. कुछ देर बाद बीजेपी नेता कैलाश मेघवाल को पुलिस ने किसानों की भीड़ से सुरक्षित निकाला. पुलिस ने इस दौरान लाठीचार्ज भी किया.

बीजेपी नेता कैलाश मेघवाल के फाड़े कपड़े
बीजेपी नेता कैलाश मेघवाल के फाड़े कपड़े

गौरतलब है कि कुछ महीनों पहले पंजाब के मलोट शहर में भी ऐसी घटना सामने आई थी. उस दौरान कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने बीजेपी विधायक अरुण नारंग की पिटाई कर दी थी. इसके बाद पुलिस ने 250 से 300 किसानों के खिलाफ मामला दर्ज किया था. बीजेपी विधायक की पिटाई का मामला सामने आने के बाद बीजेपी राज्य में कांग्रेस पर हमलावर हो गई थी. वहीं, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी पुलिस को मामले में कार्रवाई करने का आदेश दिया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें