scorecardresearch
 

राजस्थान: फर्जी शादी कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़, पकड़ी गई 'लुटेरी दुल्हन'

बारां जिले के रामपाल नाथ ने पुलिस में शिकायत की कि उसके साथ धोखाधड़ी से फर्जी शादी कर एक लाख 70 हजार रुपये हड़प लिए गए. यही नहीं जिस लड़की से उसके शादी हुई वह भाग गई. जिसके बाद शिकायत मिलने पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया और जांच शुरू कर दी. 

X
सांकेतिक फोटो सांकेतिक फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एमपी से पकड़ा गया फर्जी शादी कराने वाला गिरोह
  • राजस्थान में फर्जी शादी से एक लाख 70 हजार रुपये हड़प लिए
  • पुलिस ने महिला समेत 4 को पकड़ा

राजस्थान के बारां में फर्जी शादी कर पैसा हड़पने का मामला सामने आया है. कवाई कस्बे में एक महीने में थाना क्षेत्र में यह दूसरा मामला है. पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए मुकदमा दर्ज कर 10 घंटे में दो महिलाओं सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. 

दरअसल, कवाई कस्बे के पारलिया रोड निवासी रामपाल नाथ ने पुलिस में शिकायत की कि उसके साथ धोखाधड़ी से फर्जी शादी कर एक लाख 70 हजार रुपये हड़प लिए गए. यही नहीं जिस लड़की से उसके शादी हुई वह भाग गई. जिसके बाद शिकायत मिलने पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया और जांच शुरू कर दी. 

फर्जी शादी कराने वाला गिरोह

मामले में डीएसपी सोजीलाल मीणा अटरू के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई. इस टीम ने फर्जी शादी कराने वाले गिरोह की सरगना एमपी के भोपाल जिले के करौद पंचवटी थाना क्षेत्र से किरण (पत्नी प्रकाश) एवं दुल्हन संध्या यादव (उर्फ सोनम पत्नी राजकुमार) को पकड़ लिया. साथ ही उनके सहयोगी गोविंद भार्गव, अमित पुत्र श्यामलाल से भी पूछताछ की गई. 

गिरोह की मुखिया किरण लड़कियां उपलब्ध कराती थी

आरोपियों से पूछताछ में सामने आया कि गिरोह की मुखिया किरण लड़कियां उपलब्ध कराती थी. दलाल गोविंद भार्गव योजनाबद्ध तरीके से लड़का पक्ष से पैसे लेकर शादी करवाता था. वहीं भगवती लोगों को घर बुलाकर शादी करवाने का झांसा देकर आश्वासन में लेती थी. फिर शातिर तरीके से शादी करवाकर फर्जी दुल्हन को एक-दो दिन बाद अमित के माध्यम से गाड़ी से दुल्हन को वापस बुला ले जाते थे. 

इसी तरह कवाई कस्बा निवासी रामपाल के साथ दलालों ने अटरू न्यायालय में सोमवार को शादी करवाई.  गुरुवार को फर्जी दुल्हन से फोन पर बात कर उसे वापस ले जा रहे थे. जिसकी सूचना पीड़ित ने स्थानीय थाना अधिकारी को दी.

थानाधिकारी ने हेड कांस्टेबल आमिर खान, कांस्टेबल गुड्डू राम, रामवीर, विक्रम सिंह, सुगनाबाई की टीम गठित कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी. जिस पर पुलिस ने मात्र 10 घंटे के अंतराल में चारों आरोपियों सहित एक नाबालिग लड़की को डिटेन कर गिरफ्तार कर लिया.

रिपोर्ट- राम मेहता

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें