scorecardresearch
 

VRS लेने वाले भूपेंद्र सिंह को मिली राजस्थान पब्लिक सर्विस कमीशन की जिम्मेदारी

राजस्थान के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) डॉ. भूपेंद्र सिंह यादव को राजस्थान पब्लिक सर्विस कमीशन का अध्यक्ष बनाया गया है. दरअसल, डीजीपी भूपेंद्र सिंह यादव करीब 8 महीने पहले ही सेवानिवृत्त हो गए.

राजस्थान के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) डॉ. भूपेंद्र सिंह यादव राजस्थान के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) डॉ. भूपेंद्र सिंह यादव
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राजस्थान के DGP पद से आज हो रहे हैं रिटायर
  • रिटायरमेंट से 7 महीने ही लिया वीआरएस
  • अब मिली राजस्थान पब्लिक सर्विस कमीशन की जिम्मेदारी

राजस्थान के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) डॉ. भूपेंद्र सिंह यादव को राजस्थान पब्लिक सर्विस कमीशन का अध्यक्ष बनाया गया है. दरअसल, डीजीपी भूपेंद्र सिंह यादव करीब 8 महीने पहले ही सेवानिवृत्त हो गए. भूपेंद्र सिंह यादव ने वीआरएस के लिए आवेदन किया था. सरकार ने उनकी अर्जी को स्वीकार कर लिया और साथ ही एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंप दी.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पिछले साल अगस्त में ही भूपेंद्र सिंह को डीजीपी के पद पर 2 साल के लिए नियुक्त किया था. उनका कार्यकाल 30 जून 2021 तक है, मगर उससे पहले ही भूपेंद्र सिंह ने पद छोड़ने की इच्छा जताई थी. इसको सरकार ने मंजूर कर लिया है. अब उन्हें राजस्थान पब्लिक सर्विस कमीशन का अध्यक्ष बनाया गया है.

देखें: आजतक LIVE TV

कहा जा रहा है कि भूपेंद्र सिंह जिस तरह के व्यक्ति हैं, वर्तमान राजनीतिक घटनाक्रम में वह खुद को सहज नहीं पा रहे थे,  क्योंकि इस वक्त राजस्थान पुलिस में राजनीतिक दखलअंदाजी चरम पर है. हालांकि, उन्हें सीएम अशोक गहलोत का करीबी माना जाता है. इस वजह से सरकार में अहम पद मिलने की संभावना थी.

इस बीच खबर है कि जाटों को खुश करने के लिए एमएल लाठर को नया डीजीपी बनाया जा सकता है. उनका कार्यकाल 8 महीने बाद ही मई 2021 में खत्म हो रहा है. हालांकि वरीयता में वह डीजी होमगार्ड राजीव दासोत से नीचे हैं, मगर माना जा रहा है कि जातीय समीकरण को देखते हुए इन्हीं को डीजीपी बनाया जाएगा.


 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें