scorecardresearch
 

काबू में कोरोना-खुलने लगा राजस्थान, अनलॉक 3 के तहत लोगों को मिलीं ये रियायतें

सरकारी गाइडलाइन के मुताबिक अब बाजार रात सात बजे तक खुल पाएंगे. बसें भी रात आठ बजे तक चलती दिख जाएंगी. इस बार निजी वाहन को भी छूट दी गई है और गाड़ियों के जरिए रात आठ बजे तक आवाजाही की जा सकती है.

फिर खुलने को तैयार राजस्थान ( पीटीआई फोटो) फिर खुलने को तैयार राजस्थान ( पीटीआई फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एक जुलाई से हो पाएंगे शादी कार्यक्रम
  • कार्यक्रम को शाम चार बजे तक खत्म करना होगा
  • धार्मिक स्थल खोलने की भी अनुमति

देश के दूसरे राज्यों की तरह राजस्थान में भी कोरोना काबू में आ गया है. दूसरी लहर ने जो तबाही मचाई थी, अब वो ठंडी पड़ गई और लोगों के लिए रियायतों का दौर शुरू हो गया है. इसी कड़ी में राजस्थान सरकार द्वारा अनलॉक 3 के तहत लोगों को और भी कई सारी छूट दे दी गई हैं.

सरकारी गाइडलाइन के मुताबिक अब बाजार शाम सात बजे तक खुल पाएंगे. बसें भी रात आठ बजे तक चलती दिख जाएंगी. इस बार निजी वाहन को भी छूट दी गई है और गाड़ियों के जरिए रात आठ बजे तक आवाजाही की जा सकती है. पेट्रोल पंप भी इतने बजे तक खुले रहेंगे और मंदिरों को खोलने की भी अनुमति दे दी गई है.

एक जुलाई से फिर हो पाएंगी शादियां

गाइडलाइन में एक बड़ी घोषणा शादियों को लेकर भी कर दी गई है. अब एक जुलाई से शादी समारोह फिर शुरू होते दिख जाएंगे, लेकिन लोगों की सीमा पहले ही तय कर दी गई है. शादी में 40 से ज्यादा मेहमानों को नहीं बुलाया जा सकता है, वहीं कार्यक्रम को भी शाम चार बजे तक खत्म करना होगा. इसके बाद शादी कार्यक्रम को आगे बढ़ाने की अनुमति नहीं मिलेगी. अब सरकार की तरफ से कुछ पाबंदियां इसलिए रखी जा रही हैं क्योंकि कोरोना की दूसरी लहर से मुक्ति मिली है, कोरोना अभी भी आस-पास ही है.

नए वेरिएंट को लेकर चिंता

जिस स्पीड से अब डेल्टा प्लस वेरिएंट फैलता दिख रहा है, उस वजह से कई राज्य फिर चिंता में आ गए हैं. एक बार के लिए मामले अभी ज्यादा नहीं है, लेकिन शुरुआती जांच के बाद कहा जा रहा है कि ये वरिएंट ज्यादा संक्रामक हो सकता है और शायद इसी के जरिए देश में कोरोना की तीसरी लहर दस्तक भी दे. इसी बात को समझते हुए राजस्थान सरकार ने लोगों को रियायतें देना शुरू तो किया है, लेकिन पूरा राज्य खोलने का फैसला अभी नहीं लिया है. आने वाले दिनों में जब मामले और कम हो जाएंगे, तो और छूट मिलती दिख सकती हैं.

क्लिक करें- राजस्थान: कोरोना वॉरियर मृतक के परिजन को मुआवजा दिलाने के बदले मांगी घूस, क्लर्क गिरफ्तार 

टीकाकरण के मामले में तेज स्पीड

वैसे अब कोरोना मामलों पर तो अंकुश लगा ही दिया गया है, इसके अलावा टीकाकरण की रफ्तार को भी काफी ज्यादा कर लिया है. शनिवार को राजस्थान में 10.45 लाख लोगों का टीकाकरण किया गया. ये राजस्थान का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. ऐसे में इस खास मौके पर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने तमाम चिकित्साकर्मियों को बधाई दी.

उन्होंने कहा कि यदि केंद्र सरकार से राज्य को निरंतर वैक्सीन उपलब्ध होती रहे तो विभाग प्रतिदिन 15 लाख लोगों का टीकाकरण करने की क्षमता रखता है. चिकित्सा मंत्री ने कहा कि राजस्थान ने कोरोना प्रबंधन से लेकर वैक्सीनेशन तक में देशभर में धाक जमाई है. देशभर में सबसे पहले 50 लाख वैक्सीनेशन डोज राजस्थान में लगाए गए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें