scorecardresearch
 

वसुंधरा राजे ने किया कैबिनेट विस्तार, बदल गए कई चेहरे

राजस्थान प्रांत में इस बीच नए कैबिनेट का गठन हुआ है. एक तरफ जहां पुराने लोगों को हटाया गया है वहीं नए चेहरों को वरीयता दी गई है. जानें कौन-कौन हैं राजस्थान के नए मंत्री...

राजस्थान प्रांत कैबिनेट विस्तार राजस्थान प्रांत कैबिनेट विस्तार

बीजेपी शासित राजस्थान प्रांत में कैबिनेट विस्तार हो गया है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने इस विस्तार को हरी झंडी दे दी थी. शुक्रवार रात मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के कैबिनेट विस्तार में तब नया पेंच फंस गया जब राज्यपाल कल्याण सिंह दिल्ली चले गए. दोपहर दो बजे इसके बाबत राज्य सचिवालय में नए कैबिनेट की बैठक बुलाई गई थी.

ज्योतिषियों ने दोपहर 2 बजे से 4 बजे का समय कैबिनेट विस्तार के लिए उचित बताया था. राज्यपाल के समय से वापस न लौटने पर कैबिनेट विस्तार टलने की भी संभावना थी. गौरतलब है कि आगामी 13 दिसंबर की तारीख को वसुंधरा राजे की अगुवाई वाली सरकार के तीन साल पूरे हो रहे हैं. ऐसे में इसे आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी भी कहा जा रहा है. वसुंधरा राजे इस कैबिनेट विस्तार के लिए पिछले काफी समय से दिल्ली के चक्कर काट रही थीं और शुक्रवार की रात उन्हें इसके बाबत हरी झंडी मिली.

मंत्रीमंडल के नए चेहरे...
कैबिनेट विस्तार में इस बार अनुभव के साथ-साथ नए व महिला चेहरों को भी वरीयता दी गई है. अजय सिंह किलक, बाबू लाल वर्मा, श्रीचंद कृपलानी, जसवंत यादव, श्रीमती कामसा, कामसा मेघवाल और धन सिंह रावत को कैबिनेट का हिस्सा बनाया गया है. यहां हम आपको बताते चलें कि राजस्थान में कुल विधायकों की संख्या 200 है और उसके आधार पर 30 लोगों को मंत्री बनाया जा सकता है.

अब से पहले राजस्थान कैबिनेट में वसुंधरा राजे समेत 26 मंत्री थे. बाकी की जिम्मेदारी स्वयं मुख्यमंत्री संभालती रही हैं. बीते कुछ माहों से प्रांत के भीतर हिंगोनिया गोशाला को लेकर जारी उथलपुथल के बाद से इसे बड़ी तैयारी माना जा रहा है. इसके अलावा कैबिनेट में न शामिल किए जाने वाले चेहरों को संसदीय सचिव बनाकर कैबिनेट रैंक दी जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें