scorecardresearch
 

राजस्थान BJP में असंतोष! पता लगाने जयपुर जाएगी केंद्रीय मंत्रियों की टीम

सचिन पायलट की घर वापसी हो गई है और गहलोत खेमे के विधायक जैसलमेर से वापस जयपुर लौट आए हैं. वहीं, अब बीजेपी में भी घर का झगड़ा खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है, जिसे शीर्ष नेतृत्व ने संज्ञान में लेते हुए केंद्रीय मंत्रियों की एक टीम जयपुर भेजने का फैसला किया है.

पूर्व सीएम वसुंधरा राजे पूर्व सीएम वसुंधरा राजे

  • कांग्रेस में पायलट-गहलोत में सुलह समझौता
  • राजस्थान BJP में चल रहा शह-मात का खेल

राजस्थान में सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच जारी सियासी संग्राम पर कांग्रेस हाईकमान ने ब्रेक लगा दिया है. इसके बाद सचिन पायलट की घर वापसी हो गई है और गहलोत खेमे के विधायक जैसलमेर से वापस जयपुर लौट आए हैं. वहीं, अब बीजेपी में घर का झगड़ा खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है, जिसे शीर्ष नेतृत्व ने संज्ञान में लेते हुए केंद्रीय मंत्रियों की एक टीम जयपुर भेजने का फैसला किया है.

बता दें कि राजस्थान में बीजेपी विधायक दल की बैठक लगातार दो दिन से टलने के बाद पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने केंद्रीय मंत्रियों की एक टीम जयपुर भेजा है. केंद्रीय मंत्रियों की यह टीम बीजेपी के अंदर के असंतोष की पड़ताल करेगी. गुरुवार को सुबह बीजेपी कार्यालय में विधायक दल की बैठक बुलाई गई है. बीजेपी ने अपने विधायकों को गुजरात भेजने के लिए बुलाए थे, लेकिन वसुंधरा समर्थक विधायकों ने जाने से मना कर दिया. इसके बाद से बीजेपी की भारी किरकिरी हुई है.

ये भी पढ़ें: पायलट गुट के विधायक बोले- CM की भाषा से थे खफा, बीजेपी में जाने का नहीं था प्लान

बता दें कि राजस्थान में 14 अगस्त से विधानसभा सत्र शुरू होने वाला है. मंगलवार यानी 11 अगस्त को बीजेपी विधायक दल की बैठक जयपुर के होटल क्राउन प्लाजा में बुलायी गई थी. बैठक के बाद इसी होटल में बाड़ाबंदी की तैयारी चल रही थी, लेकिन बाद में इस बैठक को टाल दिया गया. हालांकि, यह माना जा रहा था कि बीजेपी के सभी विधायकों को इसी होटल में विधानसभा सत्र तक रखा जाएगा.

राजस्थान में कुल बीजेपी के 72 विधायक हैं और तीन विधायक आरएलएसपी के हैं. इनमें से डेढ़ दर्जन बीजेपी विधायकों को गुजरात में रखा गया है. इनमें वो विधायक भी शामिल हैं जो बीजेपी के टिकट पर पहली बार चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं. हालांकि वसुंधरा राजे के समर्थक माने जाने विधायकों ने गुजरात जाने से मना कर दिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें