scorecardresearch
 

राजस्थान चुनाव: डीग कुम्हेर सीट ने बचाई थी कांग्रेस की साख, BJP मारेगी मौका?

राजस्थान विधानसभा चुनाव का आगाज हो चुका है. दोनों प्रमुख दल प्रचार के लिए मैदान में उतर चुके हैं. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे राजस्थान गौरव यात्रा निकाल रही हैं. जिसके बाद अब कांग्रेस की यात्रा भी शुरू होने जा रही है.

डीग कुम्हेर सीट फिलहाल कांग्रेस के पास डीग कुम्हेर सीट फिलहाल कांग्रेस के पास

राजस्थान जिले के भरतपुर जिले में कुल 7 विधानसभा सीटें हैं. इनमें 5 सीटें सामान्य हैं और 2 अनुसूचित जाति (एससी) के लिए आरक्षित हैं. फिलहाल, 5 सीटें बीजेपी के पास हैं और 2 पर कांग्रेस का कब्जा है. डीग कुम्हेर सामान्य सीट पर फिलहाल कांग्रेस का कब्जा है. जिले की ये इकलौती सीट थी, जो पिछले चुनाव में कांग्रेस के खाते में गई थी. हालांकि, इसके बाद कांग्रेस ने उपचुनाव में जिले की एक और सीट जीती.

जिले का चुनावी गणित

2013 विधानसभा चुनाव में जिले के कुल 14,36,021 मतदाताओं में से 10,39,901 लोगों ने अपने मतों का इस्तेमाल किया था. जिले में कुल वोटिंग प्रतिशत 72.4 रहा था. जिसमें भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को 38% और कांग्रेस को 25.9% वोट मिला था. बहुजन समाज पार्टी ने भी यहां उत्साहजनक प्रदर्शन करते हुए 16.3% वोट प्राप्त किया था.

डीग-कुम्हेर विधानसभा सीट का समीकरण

भरतपुर की डीग-कुम्हेर विधानसभा सामान्य सीट है और 2013 के विधानसभा चुनाव में यहां से कांग्रेस के प्रत्याशी विश्वेंद्र सिंह ने जीत दर्ज की थी. जबकि दूसरे नंबर पर भारतीय जनता पार्टी के दिगंबर सिंह रहे थे. कांग्रेस 11,162 (7.6%) वोट के अंतर से यह सीट जीती थी.

2013 चुनाव का रिजल्ट

 पार्टीप्रत्याशी  प्राप्त वोट वोट प्रतिशत
 बीजेपीदिगंबर सिंह 60,245 40.9%
 कांग्रेसविश्वेंद्र सिंह 71,407 48.4%

2008 विधानसभा चुनाव की बात की जाए तो यह सीट बीजेपी के पास थी. बीजेपी प्रत्याशी दिगंबर सिंह ने यह सीट जीती थी, और मौजूदा विधायक विश्वेंद्र सिंह को मात दी थी. दिंगबर सिंह को 52669 वोट मिले थे, जबकि कांग्रेस उम्मीदवार विश्वेंद्र सिंह को 49145 वोट प्राप्त हुए थे.

राजस्थान विधानसभा में कुल 200 सीटें हैं. इनमें 142 सीट सामान्य, 33 सीट अनुसूचित जाति और 25 सीट अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित हैं. 2013 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी और उसने 163 सीटों पर जीत दर्ज की थी. जबकि कांग्रेस 21 सीटों पर सिमट गई थी. बहुजन समाज पार्टी को 3, नेशनल पीपुल्स पार्टी को 4, नेशनल यूनियनिस्ट जमींदारा पार्टी को 2 सीटें मिली थीं. जबकि 7 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें