scorecardresearch
 

राजस्थान: कौन होगा CM उम्मीदवार? अशोक गहलोत ने दिया ये जवाब

राजस्थान में इसी साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं. वसुंधरा राजे सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर को कांग्रेस कैश करना चाहती है. पार्टी को राज्य में सत्ता वापसी की उम्मीद है, जिसके चलते सीएम उम्मीदवार के नाम को लेकर भी चर्चा आम है.

कांग्रेस नेता अशोक गहलोत कांग्रेस नेता अशोक गहलोत

मॉनसून के बीच राजस्थान में चुनावी पारा तेजी से चढ़ रहा है. खासकर कांग्रेस में मुख्यमंत्री पद को लेकर चर्चा बाजार बेहद गर्म है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत में से कौन कांग्रेस का सीएम चेहरा होगा इसे लेकर अभी तक तस्वीर साफ नहीं हुई है. इस बीच अशोक गहलोत ने इस मुद्दे पर अपनी राय रखी है.

विवाद के बीच अशोक गहलोत ने मंगलवार को कहा कि इस बारे में कोई भी फैसला करने का अधिकार पार्टी आलाकमान को है. गहलोत ने कहा कि उनकी प्राथमिकता कांग्रेस पार्टी को फिर से मजबूत करना है और मुख्यमंत्री पद का कोई भी मुद्दा इसके बाद आता है.

गहलोत के नाम की मांग

दरअसल, पार्टी के एक नेता लालचंद कटारिया ने आगामी विधानसभा चुनावों में गहलोत को मुख्यमंत्री पद का दावेदार घोषित करने की मांग की थी, ताकि राज्य में कांग्रेस के अस्तित्व को बचाया जा सके. गहलोत ने इसके बाद खुद कहा था कि 'प्रदेश की जनता ने दस साल तक एक चेहरा देखा है.'

गहलोत ने इस बारे में एक कार्यक्रम के दौरान कहा, 'पार्टी में बिल्कुल कोई विवाद नहीं है, मेरी प्राथमिकता कांग्रेस को मजबूत बनाना है, किसी पद का मुद्दा इसके बाद आता है. मैं पहले भी कई बार कह चुका हूं, कि पार्टी मुझे जो भी जिम्मेदारी देगी मैं राजस्थान के लोगों की सेवा करता रहूंगा.'

उन्होंने कहा, अगर चुनावों में पार्टी जीतती है तो मुख्यमंत्री पद के दावेदार का फैसला पार्टी आलाकमान करता है और यह फैसला विधायकों व कार्यकर्ताओं की राय के आधार पर होता है.

इसके साथ ही गहलोत ने उनके बयानों को गलत ढंग से पेश किये जाने के लिये मीडिया के एक हिस्से को दोषी ठहराया. गहलोत ने कांग्रेस में मुख्यमंत्री पद के दावेदार का कथित विवाद पैदा करने के लिये सत्तारूढ भाजपा पर निशाना साधा.

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर निशाना साधते हुए गहलोत ने कहा कि प्रदेश की जनता उनसे नाराज है, क्योंकि वह जनता से किये गये वादों पर खरा नहीं उतरी हैं, और उन्हें धोखा दिया है. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की प्रस्तावित 'सुराज गौरव यात्रा' को गहलोत ने 'कुराज यात्रा' करार दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें