scorecardresearch
 

हनुमान बेनीवाल पहली जांच में कोरोना पॉजिटिव, तीसरे टेस्ट में निगेटिव, कहा- किसे सही मानें

सांसद हनुमान बेनीवाल ने सोमवार को ट्वीट किया कि मैंने लोकसभा परिसर में कोविड-19 की जांच करवाई जो पॉजिटिव आई. उसके बाद जयपुर स्थित SMS मेडिकल में जांच करवाई जो निगेटिव आई. दोनों रिपोर्ट आपके साथ साझा कर रहा हूं. आखिर किस रिपोर्ट को सही माना जाए?

लोकसभा सांसद हनुमान बेनीवाल लोकसभा सांसद हनुमान बेनीवाल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पहली कोरोना रिपोर्ट मिली पॉजिटिव
  • दोबारा जांच पर रिपोर्ट आई निगेटिव
  • संसद सत्र से पहले हुई थी कोरोना जांच

कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद राजस्थान के लोकसभा सांसद हनुमान बेनीवाल को संसद सत्र में हिस्सा लेने की अनुमति नहीं मिली. लोकसभा परिसर में हुए कोविड टेस्ट में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव मिली थी. लेकिन उन्होंने जयपुर के मेडिकल कॉलेज में टेस्ट कराया तो रिपोर्ट निगेटिव आई है.

लोकसभा सांसद ने इस मामले में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से स्पष्टीकरण मांगा है. उन्होंने सवालिया अंदाज में कहा, 'लोकसभा में मेरी हुई कोविड-19 की जांच का पॉजिटिव आना और उसके बाद जयपुर में हुई जांच का निगेटिव आने के मामले में डॉ. हर्षवर्द्धन से संज्ञान लेने हेतु अनुरोध है, स्वास्थ्य मंत्रालय को मामले में स्पष्टीकरण देना चाहिए की आखिर सही जांच किसको माना जाए.  

सांसद हनुमान बेनीवाल एक महीना पहले कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. उसके बाद वह ठीक होकर दिल्ली में सेना भर्ती को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मिले थे. वह 10 सितंबर को पार्लियामेंट के डिफेंस कमेटी की मीटिंग में हिस्सा लेने दिल्ली भी गए थे.

11 सितंबर को उन्होंने संसद भवन में अपना सेंपल दिया, उसके बाद 13 सितंबर की सुबह उन्हें दिल्ली से दूरभाष पर सूचना दी गई कि वह कोविड-19 पॉजिटिव हैं. यह सुनने के बाद हनुमान बेनीवाल के होश उड़ गए क्योंकि दोबारा इतनी जल्दी कोरोना संक्रमित होना, शंका पैदा करने वाला था. लिहाजा उन्होंने जयपुर में कोरोना वायरस की जांच कराई, जिसमें उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है.

नागौर से राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के सांसद हनुमान बेनीवाल ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय इस पूरे मामले पर अपना रुख साफ करें. क्योंकि संसद चलने से पहले सारे सांसदों की कोरोना जांच की गई है. ऐसे में गलत जांच रिपोर्ट को लेकर भ्रम फैला हुआ है.

हनुमान बेनीवाल का कहना है कि राजस्थान हेल्थ यूनिवर्सिटी में कोरोना निगेटिव आने के बाद उन्हें तय नियमों के अनुसार क्वारनटीन किया गया था. उसके बाद तीसरी बार उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है. इसलिए यह जरूरी हो गया है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय इस बारे में सब कुछ साफ करे. 

इससे पहले सांसद हनुमान बेनीवाल ने सोमवार को ट्वीट किया, 'मैंने लोकसभा परिसर में कोविड-19 की जांच करवाई जो पॉजिटिव आई. उसके बाद जयपुर स्थित SMS मेडिकल में जांच करवाई जो निगेटिव आई. दोनों रिपोर्ट आपके साथ साझा कर रहा हूं. आखिर किस रिपोर्ट को सही माना जाए?

इससे पहले किए ट्वीट में हनुमान बेनीवाल ने लिखा, 11 सितंबर को लोकसभा परिसर में मैंने कोरोना की जांच कराई थी जिसकी रिपोर्ट में मुझे लोकसभा सचिवालय से पॉजिटिव बताई गई. फिर डॉक्टरों की सलाह पर मैंने जयपुर मेडिकल कॉलेज में टेस्ट कराया जहां मेरी तीसरी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव मिली. मैं पूरी तरह से स्वस्थ हूं. निश्चित होम क्वारनटीन की अवधि को पूरा कर लिया है. 

बता दें कि सोमवार से संसद का मॉनसून सत्र शुरू हुआ. सत्र से पहले कोरोना प्रोटोकॉल के तहत सभी सांसदों को कोविड टेस्ट किया गया था, जिसमें पांच सांसद पॉजिटिव पाए गए थे. उनमें हनुमान बेनीवाल का नाम भी शामिल था.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें