scorecardresearch
 

कश्मीर में राजस्थान के ट्रक ड्राइवर की हत्या, अब बेटी बोली- आतंकियों से लूंगी बदला

जम्मू-कश्मीर से सेब लेने गए राजस्थान के भरतपुर के रहने वाले 40 वर्षीय ट्रक ड्राइवर शरीफ खान की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. मृतक की बेटियों का कहना है कि वह आर्मी में शामिल होकर आतंकवादियों को मारकर अपने पिता की मौत का बदला ले सकेंगी.

कश्मीर में सेव व्यापारियों को निशाना बना रहे आतंकी (सांकेतिक तस्वीर) कश्मीर में सेव व्यापारियों को निशाना बना रहे आतंकी (सांकेतिक तस्वीर)

  • कश्मीर में सेब लेने गए ट्रक ड्राइवर की आतंकियों ने की थी हत्या
  • आर्मी में भर्ती होकर निर्दोष पिता की हत्या का बदला चाहती है बेटी

जम्मू-कश्मीर से सेब लेने गए राजस्थान के भरतपुर के रहने वाले 40 वर्षीय ट्रक ड्राइवर शरीफ खान की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. साथ ही उनके ट्रक को आग के हवाले कर दिया था. दिवंगत की तीनों बेटियों ने पिता के जनाजे को कंधा दिया और शव को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया.

कश्मीर में आतंकियों की ‘एप्पल कॉन्सपिरेसी’, स्थानीय निवासी से लेकर ट्रक ड्राइवर निशाने पर

मृतक की बेटियों में काफी गुस्सा है, वह अपने पिता की मौत का बदला लेने के लिए आर्मी में भर्ती होना चाहती हैं. बेटियों का कहना है कि वह आर्मी में शामिल होकर आतंकवादियों को मारकर अपने पिता की मौत का बदला ले सकेंगी.

मृतक की बेटियों ने बयां किया दर्द

दरअसल, पहाड़ी थाना क्षेत्र के उभाका निवासी मृतक शरीफ खान की तीन बेटियां (तस्लीमा, मुस्कान और बुशरा) हैं, जिनका कहना है कि घटना से एक दिन पहले उनके पिता ने उनसे फोन पर बात की थी. पिता ने कहा था कि वह जम्मू-कश्मीर सेब भरने गए हैं. जब वह वापस आएंगे तो उनके लिए सेब लेकर आएंगे लेकिन सेब लाना तो दूर पिता का शव कश्मीर से वापस आया.

परिवार के लिए था इकलौता सहारा

गौरतलब है कि मृतक शरीफ खान ट्रक चलाकर अपने परिवार का पालन पोषण करता था. जहां उसके परिवार में तीन बेटियां, पत्नी और बुजुर्ग माता पिता हैं. परिवार में वह अकेला ही कमाने वाला था. जिसके बाद अब परिवार का गुजारा करने वाला कोई नहीं है.

J-K: बौखलाए आतंकियों ने शोपियां में की ट्रक ड्राइवर की हत्या

पीड़ित परिवार को मुआवजा

स्थानीय विधायक ने 4 लाख रुपये, राज्य सरकार की तरफ से 2 लाख रुपये और जम्मू-कश्मीर के शोपियां के जिला कलेक्टर ने 3 लाख रुपये पीड़ित परिवार को दिए हैं. साथ ही भरतपुर जिला प्रशासन द्वारा जम्मू-कश्मीर सरकार को 5 लाख रुपये पीड़ित परिवार को देने लिए प्रस्ताव भेजा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें