scorecardresearch
 

राजस्थान में कोरोना, अतिरिक्त मुख्य सचिव बोले- हालात चिंताजनक, बेकाबू नहीं

राजस्थान के स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने कहा कि कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं फैले इसके लिए सर्दी, जुकाम और खांसी के मरीजों के लिए अलग से ओपीडी बनाया गया है.

राजस्थान में कोरोना का प्रभाव (फाइल फोटो- Aajtak) राजस्थान में कोरोना का प्रभाव (फाइल फोटो- Aajtak)

  • राजस्थान में कोरोना के मरीज, कॉम्युनिटी स्प्रेड का मामला नहीं
  • भीलवाड़ा और झुंझुनू में हालात गंभीर, सख्ती बढ़ाई गई

कोरोना को लेकर राजस्थान के स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने कहा कि राजस्थान में अभी हालात कंट्रोल से बाहर नहीं हुए हैं. मामले आ रहे हैं मगर कॉम्युनिटी स्प्रेड का मामला अभी तक सामने नहीं आया है. भीलवाड़ा और झुंझुनू में हालात गंभीर हैं इसलिए सरकार ने वहां पर सख्ती बढ़ा दी है और जांच का दायरा भी बढ़ा दिया है.

उन्होंने कहा, कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं फैले इसके लिए सर्दी, जुकाम और खांसी के मरीजों के लिए अलग से ओपीडी बनाया गया है जहां पर डॉक्टरों को सुविधाओं से लैस किया जाएगा. राजस्थान सरकार ने एक वॉर रूम बनाया है जिसके जरिए पूरे राजस्थान में कोरोना वायरस और उसकी वजह से हो रही समस्याओं पर नजर रखी जा रही है, जिसमें राजस्थान सरकार के 6 आईएएस अधिकारियों की टीम है.

ये भी पढ़ें- 20 करोड़ महिलाओं के खाते में हर महीने आएंगे 500 रुपये, मोदी सरकार का बड़ा ऐलान

उन्होंने कहा, जैसे ही सूचना मिली कि राजस्थान-अहमदाबाद बॉर्डर पर 12 से 15 हजार लोग खड़े हैं तो तुरंत हमने उनके स्क्रीनिंग की व्यवस्था की है. डूंगरपुर जिला कलेक्टर का फोन आया था उसके बाद जरूरी संसाधन मुहैया कराए गए हैं.

एसएस रोहित कुमार सिंह ने कहा कि भीलवाड़ा के अलावा झुंझुनू भी हमारे लिए प्रॉब्लमैटिक बना हुआ है.

ये भी पढ़ें- सरकार का ऐलान- हर कोरोना वॉरियर्स को मिलेगा 50 लाख का बीमा कवर

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें