scorecardresearch
 

राजस्थान में ऑटो चालक को पीटा, जबरन कहलवाया "मोदी जिंदाबाद"

गफ्फार अहमद ने कहा कि उनके माथे और पीठ पर काफी चोटें आई हैं. हमलावरों ने उन्हें लात और मुक्कों से पीटा. पुलिस ने फिलहाल इस मामले में शिकायत दर्ज कर दो लोगों को गिरफ्तार किया है.

ऑटोरिक्शा चालक गफ्फार की पिटाई (फोटो- आजतक) ऑटोरिक्शा चालक गफ्फार की पिटाई (फोटो- आजतक)

  • सीकर पुलिस ने दो लोगों को किया गिरफ्तार
  • आरोपियों पर पहले से लूटपाट के मामले दर्ज

राजस्थान के सीकर जिले में 52 साल के एक ऑटोरिक्शा ड्राइवर के साथ कथित तौर पर "मोदी जिंदाबाद" और "जय श्री राम" का नारा लगाने से इनकार करने के बाद मारपीट करने का मामला सामने आया है. पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. इससे पहले 52 वर्षीय ऑटोरिक्शा ड्राइवर गफ्फार अहमद ने मारपीट की घटना को लेकर सीकर सदर थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी.

गफ्फार अहमद ने शिकायत में लिखवाया है कि वो कल्याण सर्किल एरिया से सवारी लेकर जिगरी छोटी गांव पहुंचे थे. यात्री को गंतव्य स्थल पर पहुंचाकर जब वह वापस लौट रहे थे, तभी रास्ते में पिक-अप वैन में बैठे कुछ लोगों ने उन्हें रुकने को कहा. और वह रुक गए. उसके बाद उनसे जय श्री राम और मोदी जिंदाबाद के नारे लगाने को कहा गया.

पुलिस में दर्ज की गई शिकायत के मुताबिक, 'पिक-अप में बैठे एक शख्स ने गफ्फार अहमद से मोदी जिंदाबाद के नारे लगाने को कहा. साथ ही उसके मुंह पर एक थप्पड़ मारा. उसके बाद उसने जय श्री राम के नारे लगाने को कहा. फिर गफ्फार अपना रिक्शा स्टार्ट कर वहां से दूर निकल गया. कुछ आगे जाकर उन लोगों ने चालक को ओवरटेक किया और सामने से हमला बोल दिया. इसके बाद रिक्शा चालक गफ्फार बेहोश हो गए.'

अयोध्या: पीएम मोदी के जय श्रीराम से जय सियाराम पर शिफ्ट होने के निहितार्थ

गफ्फार अहमद ने कहा कि उनके माथे और पीठ पर काफी चोटें आई हैं. हमलावरों ने उन्हें लात और मुक्कों से पीटा. पुलिस ने फिलहाल इस मामले में शिकायत दर्ज कर दो लोगों को गिरफ्तार किया है. राजेंद्र और शंभू दयाल नाम के दो शख्स वहां के स्थानीय निवासी हैं. ये दोनों जगदलपुर और जिगर छोटी इलाके के रहने वाले हैं. इनके खिलाफ पहले से भी लूटपाट और मारपीट के कई केस दर्ज हैं. पुलिस ने आरोपी के पास से पिकअप वैन भी जब्त की है.

पीएम मोदी बोले- अयोध्या में एक धन्य दिन, भगवान राम का आशीर्वाद बना रहे

सीकर सदर पुलिस थाने के स्टेशन हाउस ऑफिसर पुष्पेंद्र सिंह ने घटना को लेकर बताया, 'गफ्फार अहमद नाम का यह ड्राइवर अपने सवारी को छोड़कर वापस लौट रहा था. तभी दोनों आरोपियों ने उनकी गाड़ी रोककर उनसे ज़र्दा मांगा और फिर इनके बीच तकरार हुई. ये दोनों शरारती तत्व थे. FIR दर्ज करने के छह घंटे के अंदर ही हमने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. साथ ही उनकी गाड़ी भी जब्त कर ली है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें