scorecardresearch
 

बच्चे को बचाने के लिए मां ने दरांती से ही कर दिया बाघ पर हमला, फिर...

राजस्थान के रणथंभौर टाइगर रिजर्व में एक बाघ ने 10 साल के बच्चे पर हमला कर उसे मौत के घाट उतार दिया. पिछले एक महीने में यह तीसरी बार हुआ है जब इलाके में बाघ ने इंसान पर हमला किया हो.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

  • बच्चे को बचाने की कोशिश में उसकी मां भी घायल हो गई
  • बच्चे को बचाने के लिए मां ने दरांती से बाघ पर हमला किया

राजस्थान के रणथंभौर टाइगर रिजर्व में एक बाघ ने 10 साल के बच्चे पर हमला कर उसे मौत के घाट उतार दिया. पिछले एक महीने में यह तीसरी बार हुआ है जब इलाके में बाघ ने इंसान पर हमला किया हो. सोमवार की शाम रणथंभोर में बाघ ने हमला कर 10 साल के नीरज बैरवा को मौत के घाट उतार दिया.

बच्चे को बचाने की कोशिश में मां भी घायल हो गई. सोमवार शाम को जानकारी मिली कि सवाई माधोपुर के खंडार इलाके के डांगरवाड़ा गांव में बाघ घुस आया है और उसने एक गाय का शिकार कर लिया. अपनी गाय की तलाश में मां, बेटे और बेटी जंगल की तरफ चले गए. तभी अचानक झाड़ियों में बैठा बाघ से उनका सामना हो गया.

बाघ को देखकर सभी भागने लगे तो बाघ ने पीछे से हमला कर बच्चे को दबोच लिया. बच्चे को बचाने के लिए उसकी मां ने दरांती से बाघ पर हमला किया लेकिन इसी बीच बाघ बच्चे को मारकर भाग गया. नेशनल पार्क में एक महीने में बाघ के इंसानों पर हमले की यह तीसरी घटना है.

कौन से बाघ ने हमला किया इसका पता नहीं चल पाया है. रणथंभौर नेशनल पार्क के एसीएफ संजीव शर्मा ने बताया कि इलाके में 3 बाघ सक्रिय रहते हैं. लेकिन हो सकता है कि टी-108 ने इसका शिकार किया हो, क्योंकि टी-108 ने कुछ दिन पहले इस इलाके में गाय का शिकार किया था. घटना के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने अपना विरोध कर मुआवजे के लिए ₹25 लाख रुपये की मांग की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें