scorecardresearch
 

'मैंने ही हमलावर को पकड़ा था लेकिन...', शिवसेना नेता की हत्या के प्रत्यक्षदर्शी की जुबानी

पंजाब के अमृतसर में शिवसेना नेता सुधीर सूरी की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या के बाद तनाव है. वहीं हत्या के प्रत्यक्षदर्शी राहुल शर्मा ने बताया कि मैंने ही हमलावर को पकड़ा था, लेकिन हमलावर को पकड़ने के बाद 15 पुलिसकर्मियों ने मुझे धक्का मार कर हटा दिया था.

X
सुधीर सूरी (फाइल फोटो)
सुधीर सूरी (फाइल फोटो)

अमृतसर में शुक्रवार को दिनदहाड़े एक रिहायशी इलाके में शिवसेना नेता सुधीर सूरी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने हमलावर संदीप सिंह को भी गिरफ्तार कर लिया है. हमलावर को पकड़ने वाले और प्रत्यक्षदर्शी राहुल शर्मा ने आजतक को बताया कि जिस वक्त घटना हुई, उस वक्त 2 SHO और एक ACP मौके पर मौजूद थे. राहुल ने आरोप लगाते हुए कहा कि गोली चलने के बाद उन्होंने कोई एक्शन नहीं लिया.

राहुल शर्मा शिवसेना टकसाली के महासचिव हैं. उन्होंने कहा कि वह हमेशा सुधीर सूरी के साथ रहते थे. राहुल ने बताया कि मैंने ही हमलावर को पकड़ा था, लेकिन हमलावर को पकड़ने के बाद 15 पुलिसकर्मियों ने मुझे धक्का मार कर हटा दिया था.

राहुल शर्मा ने कहा कि हमलावर की गाड़ी से एक फाइल मिली है, जिसमें कुछ और लोगों की तस्वीरें हैं. जिनके आगे क्रॉस का निशान था. दरअसल, पुलिस ने आरोपी की कार जब्त की थी. उसकी कार में खालिस्तानियों का पोस्टर लगा हुआ है.

राहुल ने कहा कि जब तक सुधीर सूरी को शहीद का दर्जा नहीं दिया जाता, तब तक अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा. साथ ही कहा कि इस मामले में दोनों एसएचओ और ACP के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए. मामले की CBI जांच होनी चाहिए.

ये भी देखें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें