scorecardresearch
 

अमृतसर: शिवसेना नेता को गोली मारने वाले की कार में मिली कॉमेडियन भारती सिंह की फोटो

अमृतसर में शिवसेना नेता सुधीर सूरी की हत्या के मामले में तफ्तीश कर रही पुलिस को आरोपी संदीप सिंह की गाड़ी से एक फाइल मिली है. जानकारी के मुताबिक उस फाइल में कॉमेडियन भारती सिंह और एंटी टेररिस्ट फ्रंट के चेयरमैन मनिंदर जीत सिंह बिट्टा की फोटो है.

X
हमलावर की कार से खालिस्तान समर्थक का स्टीकर भी मिला है
हमलावर की कार से खालिस्तान समर्थक का स्टीकर भी मिला है

अमृतसर में शिवसेना नेता सुधीर सूरी की हत्या के मामले में तफ्तीश कर रही पुलिस को आरोपी संदीप सिंह की गाड़ी से एक फाइल मिली है. जानकारी के मुताबिक उस फाइल में कॉमेडियन भारती सिंह और एंटी टेररिस्ट फ्रंट के चेयरमैन मनिंदर जीत सिंह बिट्टा की फोटो है.

जानकारी के मुताबिक हमलावर स्विफ्ट कार से आया था. हमला करने के बाद जब वह कार से भागने लगा तो लोगों ने उसकी कार पर पथराव किया था. कार पर 'वारिस पंजाब दे' के प्रमुख अमृतपाल सिंह की तस्वीर लगी है. अमृतपाल जरनैल सिंह भिंडरांवाले का समर्थक है. उसे खालिस्तानी समर्थक माना जाता है. पुलिस ने जब कार को जब्त कर पड़ताल शुरू की तो उन्हें कार से एक फाइल मिली, जिसमें दोनों के फोटो भी पाए गए. सुधीर सुरी शिव सेना हिंदुस्तान के प्रधान थे.

हमलावर ने चलाई थीं पांच गोलियां

पुलिस ने बताया कि सुधीर सूरी गोपाल मंदिर के बाहर कूड़े में भगवानों की मूर्तियां मिलने के विरोध में मंदिर के बाहर धरने पर बैठे थे. दोपहर करीब 3:30 बजे भीड़ में से संदीप सिंह ने उन्हें गोली मारी दी. जानकारी के मुताबिक आरोपी ने लाइसेंसे असलहे से शिवसेना नेता पर गोली चलाई थी. पांच बार गोली चली थी. गोपाल मंदिर मजीठा रोड पर स्थित है, जिसे अमृतसर की सबसे व्यस्त जगह मानी जाती है.

शिवसेना नेता की बढ़ाई गई थी सुरक्षा

23 अक्टूबर को पंजाब में एसटीएफ और अमृतसर पुलिस ने पिछले महीने 4 गैंगस्टर को गिरफ्तार किया था. पकड़े गए गैंगस्टर रिंदा और लिंडा के गुर्गे था. उन्होंने पूछताछ में बताया था कि वे शिवसेना नेता सुधीर सूरी पर हमले की साजिश रच रहे थे. उनकी रेकी भी कर चुके थे.

आरोपियों ने यह भी बताया था कि उन्होंने सूरी पर दीवाली से पहले हमला करने की योजना बनाई थी. इसके बाद पंजाब के कई गैंगस्टरों से धमकी मिलने के बाद पंजाब पुलिस ने उन्हें सुरक्षा दे दी थी. हमले के वक्त पंजाब के आठ पुलिस अधिकारियों को तैनात किया गया था. इसके बाद भी हमलावर ने पुलिस के सामने उन्हें गोली मार दी.

अमृतसर का ही रहने वाला है हमलावर

पुलिस ने बताया कि हमलावर अमृतसर का ही रहने वाला है. वह पेशे से दुकानदार है. पंजाब के डीजीपी गौरव यादव ने आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद कहा- हम किसी को नहीं छोड़ेंगे. हम मामले की जांच करेंगे और इसकी तह तक जाएंगे. पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि उसे शिवसेना नेता की हत्या क्यों की?

डीजीपी गौरव यादव ने बताया कि हमलावर अमृतसर के नजदीक कपड़ों की दुकान चलाता है. उसके पास से .32 बोर का पिस्तौल बरामद किया गया है. यह लाइसेंसी हथियार है. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है.

डीजीपी ने अफवाह फैलाने पर दी चेतावनी

डीजीपी ने लोगों से अपील की कि वे अपने प्लेटफॉर्मों या सोशल मीडिया पर गैर-प्रमाणित बातें/खबरें पोस्ट न करें. इसके साथ ही अफवाहें फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें