scorecardresearch
 

मोहाली धमाके का पाकिस्तान कनेक्शन? पंजाब के साथ आतंकियों की नजर हिमाचल पर भी

मोहाली में पुलिस खुफिया विभाग का मुख्यालय सेक्टर 77 में मौजूद है. वहां यह हमला शाम को करीब 7.45 मिनट पर हुआ था. राहत की बात यह रही कि इसमें किसी शख्स को चोट नहीं आई. इस मामले में FIR दर्ज कर ली गई है. यह आतंकी हमला है या नहीं, फिलहाल इसकी जांच चल रही है.

X
धमाके वाली जगह मिली ये रॉकेटनुमा चीज धमाके वाली जगह मिली ये रॉकेटनुमा चीज
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मोहाली धमाके के तार 'रिंदा' से जुड़े
  • आतंकी पन्नू के वायरल ऑडियो में शिमला का भी नाम
  • NIA कर रही मोहाली धमाके की जांच

पंजाब पुलिस के इंटेलिजेंस मुख्यालय पर सोमवार हुए धमाके को लेकर लगातार नए खुलासे हो रहे हैं. मौके पर मिले एक रॉकेटनुमा चीज ने हमले की आशंका को बढ़ा दिया है. माना जा रहा है कि इंटेलिजेंस की बिल्डिंग पर रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड के जरिए हमला किया गया है. ऐसे में अब इस हमले के तार पाकिस्तान से जुड़ रहे हैं. 

राज्य के सीमावर्ती गांवों से हथियारों, गोला-बारूद और नशीले पदार्थों के अलावा विस्फोटकों की बरामदगी साफ़ तौर पर यह इशारा कर रही है कि पाकिस्तान, खालिस्तान आतंकवादी समूहों की मदद से पंजाब में आतंकवाद को पुनर्जीवित करने के लिए साजिश रच रहा है. हाल की कुछ बरामदगी यह साबित करने के लिए काफी हैं कि पड़ोसी देश शांत नहीं बैठा है - 

9 मई: अज्ञात व्यक्तियों ने आरपीजी के साथ पंजाब इंटेलिजेंस ब्यूरो मुख्यालय पर हमला किया
8 मई: तरनतारन गांव से 2.5 किलो आरडीएक्स और एक आईईडी बरामद
5 मई: करनाल पुलिस ने गुरुवार को 7.5 किलो आरडीएक्स ले जा रहे बीकेआई के चार गुर्गों को गिरफ्तार किया
23 अप्रैल: चंडीगढ़ बुढाल से 1.5 किलो आरडीएक्स से बना टिफिन बम बरामद
21 जनवरी: गुरदासपुर से दो हथगोले और 4 किलो आरडीएक्स बरामद

विस्फोटकों की बरामदगी के बाद पुलिस द्वारा की गई गिरफ्तारियों के बाद भी पाकिस्तान से जुड़ाव के साफ़ संकेत दे रहे हैं. जिसमें खालिस्तानी आतंकवादी हरविंदर सिंह रिंदा पर शक बढ़ रहा है. पुलिस को शुरुआती जांच में ये भी जानकारी मिली है कि पाकिस्तान में बैठा खालिस्तानी आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा का ग्राउंड वर्कर धमाके के वक़्त पंजाब खुफिया विभाग की इमारत के आस पास था. इस बात के सुबूत मोबाइल डम्प डेटा उठाए जाने के बाद मिले हैं. 

हिमाचल पर भी है आतंकियों की नजर?
 
मोहाली आरपीजी हमले के बाद आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू का एक वायरल ऑडियो भी इसी तरफ इशारा कर रहा है कि मोहाली में इंटेलिजेंस बिल्डिंग पर ब्लास्ट मामले में खालिस्तानी ग्रुप शामिल है. वायरल ऑडियो में कहा जा रहा है कि मोहाली पुलिस इंटेलिजेंस हमले से सीख ले लीजिये, यह ग्रेनेड हमला शिमला पुलिस हेडक्वार्टर पर भी हो सकता था. ऐसे में माना जा रहा है कि आतंकियों की नजर पंजाब के अलावा हिमाचल पर भी है. ऐसे में हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर और राज्य की पुलिस अलर्ट मोड पर है.

इसके अलावा इंडिया टुडे को मिली एक जानकारी के मुताबिक पंजाब इंटेलिजेंस का एक कर्मचारी पिज्जा डिलीवरी को रिसीव करने के लिए दफ्तर से बाहर आया हुआ था. जहां उसने दफ्तर के बाहर एक सफ़ेद रंग की स्विफ्ट कार को खड़े हुए देखा. जो कि संदिग्ध नजर आ रही थी. हेडक्वार्टर के सामने एक बड़ी पार्किंग बनी हुई है.

बताया जा रहा है कि जैसे ही इंटेलिजेंस कर्मचारी अपना पिज्जा का ऑर्डर लेकर अन्दर जाने लगा, संदिग्धों ने कार से इंटेलिजेंस बिल्डिंग की तरफ एक ग्रेनेड दाग दिया. और मौके से फरार हो गए. अब इस जानकारी के मिलने के बाद इलाके के सभी सीसीटीवी को खंगाला जा रहा है, ताकि संदिग्धों की पहचान की जा सके. 

घटना के संबंध में इंटेलिजेंस के अधिकारी और NIA टीम सीसीटीवी फुटेज और मोबाइल फोन टावर्स की जांच कर रहे हैं. अनुमान लगाया जा रहा है कि रॉकेट लॉन्चर ड्रोन के जरिए आया होगा. पंजाब में पिछले कुछ महीनों में ड्रोन ड्रॉपिंग के मामले बढ़ गए हैं.

कौन है आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा?

आतंकी हरविंदर पंजाब के तरन तारन का है. लेकिन वह बाद में महाराष्ट्र के नांदेड़ साहेब शिफ्ट हो गया था. हरविंदर सिंह अभी पाकिस्तान में छिपा है. जांच में पता चला था कि वह फेक पासपोर्ट के जरिए नेपाल होते हुए पाकिस्तान पहुंचा था. रिंदा को सितंबर 2011 में तरन तारन में एक युवक की मौत के मामले में उम्रकैद की सजा हुई थी.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें