scorecardresearch
 

पंजाब: कैप्टन अमरिंदर सिंह अपनी पार्टी 'पंजाब लोक कांग्रेस' का भाजपा में करेंगे विलय!

कैप्टन अमरिदर सिंह ने इस साल के फरवरी में पंजाब में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा के साथ गठबंधन किया था. कैप्टन अमरिंदर सिंह के कुछ करीबी पंजाब के पूर्व मंत्री और बड़े नेता पहले ही भाजपा में शामिल हो चुके हैं. 

X
कैप्टन अमरिंदर सिंह. -फाइल फोटो कैप्टन अमरिंदर सिंह. -फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पिछले साल मतभेद के बाद छोड़ी थी कांग्रेस पार्टी
  • कैप्टन ने पंजाब लोक कांग्रेस पार्टी का किया था गठन

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अपनी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का भारतीय जनता पार्टी (BJP) में विलय करेंगे. सूत्रों के हवाले से खबर जानकारी दी गई है कि फिलहाल कैप्टन अमरिंदर सिंह इलाज कराने विदेश गए हैं. उनके लौटने के बाद विलय करने का औपचारिक ऐलान किया जायेगा.

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सितंबर 2021 में पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद उन्होंने कांग्रेस पार्टी भी छोड़ दी थी. उन्होंने कहा था कि कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस नेताओं ने जिस तरह का व्यवहार उनके साथ किया, वो ठीक नहीं है. करीब एक महीने बाद यानी अक्टूबर में उन्होंने नई पार्टी की घोषणा की थी.

'हॉकी स्टिक और गेंद' था चुनाव चिह्न

अमरिंदर सिंह ने पंजाब लोक कांग्रेस नाम की पार्टी का गठन करने के बाद भाजपा के साथ गठबंधन कर विधानसभा चुनाव लड़ा था. चुनाव आयोग की ओर से कैप्टन अमरिंदर सिंह की पार्टी को 'हॉकी स्टिक और गेंद' चुनाव चिह्न आवंटित किया गया था. पंजाब लोक कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में 37 सीटों पर चुनाव लड़ा था. कैप्टन अमरिंदर सिंह खुद पटियाला शहर से चुनावी मैदान में थे लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. आम आदमी पार्टी के अजितपाल सिंह कोहली ने अमरिंदर सिंह को 13 हजार वोटों से मात दी थी.

1984 में भी कांग्रेस से अलग हुए थे कैप्टन

यह पहली बार नहीं था, जब अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस छोड़ी हो बल्कि इससे पहले उन्होंने 1984 में ऑपरेशन ब्लू स्टार के चलते कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद वह 1998 में पार्टी में वापस लौटे और साल 2002 से 2007 और 2017 से सितंबर 2021 तक पंजाब के मुख्यमंत्री रहे थे.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें