scorecardresearch
 

पंजाब: कोरोना मृतकों के परिजनों को मिलेगी 50 हजार रु की सहायता, चन्नी सरकार का फैसला

जानकारी मिली है कि राज्य सरकार अभी कोविड से मरे मृत लोगों की सूची बना रही है. फिर उस सूची के आधार पर ही समय रहते पीड़ित परिवार को 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी.

पंजाब सीएम चरणजीत सिंह चन्नी पंजाब सीएम चरणजीत सिंह चन्नी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंजाब सरकार देगी 50 हजार की आर्थिक मदद
  • कोरोना से गंवाई जान, पीड़ित परिवार को सहायता

पंजाब में कोरोना के कारण  16,531  लोगों ने अपनी जान गंवाई है. दूसरी लहर के दौरान तो कई लोगों ने कम समय में अपनी जान गंवा दी. अब उन्हीं मृत लोगों के परिजनों की मदद की जाएगी. पंजाब की चन्नी सरकार ने ऐलान कर दिया है कि कोरोना से मरे लोगों के परिवारों को 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी.

पंजाब सरकार का बड़ा ऐलान

जानकारी मिली है कि राज्य सरकार अभी कोविड से मृत लोगों की सूची बना रही है. फिर उस सूची के आधार पर ही समय रहते पीड़ित परिवार को 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी.

इस सिलसिले में जिला उपायुक्तों को एक चिट्ठी भी लिखी जा चुकी है. अब एक तय प्रक्रिया के पूरे होने के बाद पीड़ित परिवार को ये आर्थिक सहायता दे दी जाएगी. चिट्ठी में ये भी कहा गया है कि मृत लोगों की सूची राज्य सरकार को 15 अक्टूबर तक पहुंच जानी चाहिए.

मांग पुरानी, चुनाव से पहले अमल

वैसे जिस मांग पर अब चन्नी सरकार अमल कर रही है, असल में ये काफी पुरानी है. कोरोना प्रकोप के दौरान ही ऐसी मांग रखी गई थी कि कोविड से जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों को आर्थिक मदद दी जाए.

उस समय राज्य सरकार की तरफ से सिर्फ सरकारी अस्पताल में मुफ्त इलाज की सुविधा थी, लेकिन किसी भी तरह की आर्थिक सहायता देने से इनकार था. वहीं दूसरी तरफ तब पंजाब सरकार ने सिर्फ डॉक्टर, नर्स और विशेष ड्यूटी पर तैनात पुलिस बल को ही वॉरियर्स का दर्जा दिया था. उनकी मौत पर परिवारों को पचार हजार देने का प्रावधान था.

पंजाब का कोरोना हाल

अब राज्य सरकार ने उन सभी लोगों की मदद करने की ठानी है जिन्होंने कोरोना काल में अपने परिजनों को खो दिया है. कहा जा रहा है कि केंद्र सरकार के निर्देश पर ही ये आर्थिक सहायता अब पीड़ित परिजनों तक पहुंचाई जाएगी. पंजाब के कोरोना मीटर की बात करें तो पिछले 24 घंटे में मात्र 20 नए मामले सामने आए हैं. इसमें भी पटियाला में पांच और फरीदकोट और कपूरथला में तीन मामले सामने आए हैं. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें