scorecardresearch
 

पठानकोट हमले के पाकिस्तानी कनेक्शन का कॉल डिटेल से खुला राज

रक्षा मंत्री ने बातचीत में पीएम को पठानकोट के हालात पर जानकारी दी और आगे की कार्रवाई के बारे में भी अवगत करवाया. गोवा से दिल्ली लौटकर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने देशभर के मिलिट्री बेस की सुरक्षा को लेकर उच्च स्तरीय बैठक की है.

पठानकोट में आतंकयों से मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाकर्मी पठानकोट में आतंकयों से मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाकर्मी

पंजाब के पठानकोट में एयरफोर्स स्टेशन पर आतंकी हमले में सुरक्षाबलों ने 4 आतंकियों को ढेर कर दिया है. 17 घंटों की मशक्कत के बाद मिली इस सफलता पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुरक्षाबलों को बधाई दी है. हालांकि अभी भी कम से कम एक आतंकी के छिपे होने की आशंका जाहिर की जा रही है. एयरबेस के 14 किलोमीटर के इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है. मौके पर बख्तरबंद गाड़ि‍यों की तैनाती कर दी गई है और फ्लड लाइट्स भी लगाए गए हैं.

जानकारी के मुताबिक, मारे गए चारों आतंकियों के शव को बरामद कर लिया गया है. बताया जाता है कि सभी आतंकी जैश-ए-मोहम्मद से संबंध रखते हैं. शनिवार तड़के हुए इस हमले में एक एयरफोर्स के कमांडो और 5 DSC गार्ड सहित 6 जवान शहीद हो गए हैं. एयरफोर्स स्टेशन को सेना और पारा कमांडो ने सील कर दिया है ताकि अगर कोई आतंकी छिपने में कामयाब रहा है तो वह भाग न सके. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इस बाबत ट्विटर पर लिखा है कि देश को अपने बहादुर सैनिकों पर गर्व है.

जांबाज जवानों और सुरक्षाबलों को बधाई: PM
दूसरी ओर, मैसूर में कार्यक्रम के दौरान बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पठानकोट में चलाए गए सुरक्षा ऑपरेशन की सराहना की. उन्होंने कहा, 'हमारे सुरक्षाबलों में ऐसी कोशिशों का मुंहतोड़ जवाब देने की ताकत है. ऐसे मौके पर सबको एक साथ होना चाहिए. हमें अपने देश को अपने सैनिकों पर गर्व है. जांबाज जवानों और सैनिकों को बधाई.'

अभी जारी है ऑपरेशन: रक्षा मंत्री
रक्षा मंत्री मनोहर परिर्कर ने 'आज तक' से कहा कि हमले के फौरन बाद सभी एजेंसियों ने त्वरित कार्रवाई की है. उन्होंने कहा, 'अभी ऑपरेशन जारी है. मैं हमले में शहीद हुए जवानों को नमन करता हूं.' पश्चि‍मी एयर कमांड के एयर ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ एयर मार्शल एसबी देव खुद पठानकोट में मौके पर पहुंच चुके हैं और सेना, एनएसजी और स्थानीय पुलिस के संपर्क में हैं. पठानकोट हमले में वायु सेना रक्षा बल से कुलवंत सिंह, फतेह सिंह और वायु सेना गरूड़ कमांडो गुरसेवक सिंह शहीद हो गए हैं.

आतंकी हमले के मद्देनजर दिल्ली समेत देश के सभी बड़े शहरों और संवेदनशील इलाकों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. इससे पहले दिन में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल समेत तीनों सेना के प्रमुखों ने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को कार्रवाई के बारे में ब्रीफ किया है, वहीं रक्षा मंत्री ने पीएम नरेंद्र मोदी से पालम एयरपोर्ट पर मुलाकात की और अपडेट दिए.

जानकारी के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक कार्यक्रम में शरीक होने के लिए मैसूर रवाना हो रहे थे, तभी पालम एयरपोर्ट पर रक्षा मंत्री पर्रिकर ने उनसे मुलाकात की. रक्षा मंत्री ने बातचीत में पीएम को पठानकोट के हालात पर जानकारी दी. गोवा से दिल्ली लौटकर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने देशभर के मिलिट्री बेस की सुरक्षा को लेकर उच्च स्तरीय बैठक की.

आतंकियों से मुठभेड़ में 12 लोगों के जख्मी होने की भी खबर है. खुफिया एजेंसियों को पठानकोट हमले के आतंकियों के फोन कॉल डीटेल मिले हैं. इसके तहत रात डेढ़ से पौने दो बजे के बीच आतंकियों ने पाकिस्तान में चार फोन कॉल किए थे.

आतंकी की मां ने कहा- मरने से पहले खाना खा लेना
आतंकियों के फोन कॉल डीटेल से पता चलता है कि तीन कॉल पाकिस्तान में बैठे हैंडलर्स को किए गए थे, जबकि एक आंतकी ने अपनी मां से बात की थी. आतंकी ने मां से कहा कि वह फिदायीन मिशन पर है, जिस पर उसकी मां ने कहा कि मरने से पहले खाना खा लेना.

सूत्रों के मुताबिक, आतंकी 30 दिसंबर को गुरदासपुर से लगी सीमा से भारत में घुसे थे. सभी जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी बताए जाते हैं. बताया जाता है कि आतंकियों को बहावलपुर में ट्रेनिंग मिली और इनके हैंडलर का नाम मोहम्मद अशफाक और हाजी अब्दुल है. सभी 6 आतंकियों को वायुसेना के विमान उड़ाने का टास्क दिया गया था. आशंका जताई जा रही है कि आतंकी दो ग्रुप में बंटकर हमले के लिए निकले हैं. लिहाजा, अलग-अलग इलाकों में भी सर्च ऑपरेशन किया जा रहा है.

आधुनिक हथियारों से लैस थे आतंकी
खबरों के मुताबिक आतंकी एके-47, हैण्ड ग्रेनेड, जीपीएस सिस्टम समेत भारी गोला बारूद से लैश थे, लेकिन मुस्तैद सुरक्षा बलों ने उनके हमले को नाकाम कर दिया. आतंकवादी शनिवार तड़के 3 बजे लैंड क्रूजर और पजेरो गाड़ी से पठानकोट एयरबेस पहुंचे थे. आतंकियों की पाकिस्तान के बहावलपुर में 6 महीने तक ट्रेनिंग हुई और वे अल रहमान ट्रस्ट से जुड़े हैं.

मिलेगा मुंहतोड़ जवाब: राजनाथ
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पठानकोट हमले की निंदा करते हुए कहा कि पाकिस्तान समेत तमाम पड़ोसी देशों से भारत अच्छे रिश्ते चाहता है, लेकिन भारत पर आतंकी हमला हुआ तो इसका मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा. पठानकोट आतंकी हमले की जांच NIA को सौंप दी गई है. दिल्ली समेत देश के तमाम बड़े और संवेदनशील शहरों में हाई अलर्ट पर रखा गया है. गृह मंत्रालय, आर्मी से जुड़े ठिकाने और तमाम अहम जगहों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

कांग्रेस ने साधा PM के दौरे पर निशाना
आतंकी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हालिया पाकिस्तान दौरे पर भी सवाल उठने लगे हैं. पठानकोट हमले के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया. पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और मोदी-नवाज के पुतले फूंके. पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने पाकिस्तान को आगाह किया कि वह दहशतगर्दों पर काबू पाए. भोपाल में भी यूथ कांग्रेस कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे और प्रधानमंत्री के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया.

पाकिस्तान ने की हमले की निंदा
इस बीच, पाकिस्तान ने पठानकोट में हुए आतंकी हमले की निंदा की है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में भारत में हुए आतंकी हमले की निंदा की गई है.

आतंकी हमले की निंदा करते हुए कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि पाकिस्तान से उफा में बातचीत और पीएम के लाहौर दौरे के बाद भारत को यह सिला मिला है. सरकार को चाहिए कि वह अपनी कूटनीति और विदेश नीति पर फिर से विचार करे.

नए साल पर किया था अलर्ट
गौरतलब है कि नए साल के आगमन पर 1 जनवरी को ही एनएसए अजीत डोवाल ने वायुसेना, सेना और एनएसजी को आतंकी हमलों के बाबत अलर्ट किया था. आतंकियों के निशाने पर वायुसेना के बड़े अधिकारी भी थे. आतंकियों से मुठभेड़ में NSG के कमांडो, SWAT, पंजाब पुलिस और सुरक्षा बल के जवानों ने साझा ऑपरेशन चलाया है. इस दौरान हेलिकॉप्टर सर्विलांस की भी मदद ली गई है.

कार में मिला कागज का टुकड़ा
मुठभेड़ के बीच दोपहर में एयरबेस में दो जबरदस्त धमाके भी सुने गए. हालांकि धमाके को लेकर अभी तक कोई पुष्टि‍ नहीं हुई है कि ये किसने किए. सुरक्षा बलों ने 'जैश-ए-मोहम्मद' लिखा एक कागज का टुकड़ा आतंकियों की कार से बरामद किया है. गुरदासपुर से अगवा कार के ड्राइवर को आतंकवादियों ने सुबह में गोली मारी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें