scorecardresearch
 

पठानकोट में जारी हुआ हाई अलर्ट, संवेदनशील चौराहों पर तैनात हुई फोर्स

पंजाब के पठानकोट में एयरबेस और आर्मी कैंट इलाकों में हाई अलर्ट को देखते हुए स्थानीय प्रशासन ने एमरजेंसी सेवाओं को लागू किया है. पठानकोट की सीमा के साथ लगते जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों के इंटरस्टेट नाकों पर और संवेदनशील जगहों पर पुलिस फोर्स के साथ आतंकी हमले से निपटने के लिए बख्तरबंद गाड़ियां भी तैनात की गई हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

  • स्थानीय प्रशासन ने एमरजेंसी सेवाओं को किया लागू
  • सुरक्षा को लेकर इंटरस्टेट नाकों पर पुलिस फोर्स तैनात

पठानकोट में आतंकी हमले की आशंका को देखते हुए हाई अलर्ट जारी किया गया है. वहीं हाई अलर्ट में किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए सभी एमरजेंसी सेवाओं को तुरंत मुहैया करवाने के लिए अधिकारियों को तैनात किया गया है. सभी अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की गई है. प्रशासन इस संबंधी लेटर भी सर्कुलेट किया है. इसके साथ-साथ इंटरस्टेट नाकों में और संवेदनशील चौराहों पर पुलिस फोर्स के साथ बख्तर बंद गाड़ियां भी तैनात की गईं हैं.

भारी पुलिस फोर्स तैनात

पंजाब के पठानकोट में एयरबेस और आर्मी कैंट इलाकों में हाई अलर्ट को देखते हुए स्थानीय प्रशासन ने एमरजेंसी सेवाओं को लागू किया है. इनमें मेडिकल, फायर सर्विस और अन्य सेवाएं शामिल हैं. अधिकारियों और कर्मचारियों को किसी भी तरह की एमरजेंसी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के निर्देश जारी किए हैं. इस संबंध में स्थानीय प्रशासन ने पूरे इलाके में एक लेटर भी सर्कुलेट किया है.

इसके अलावा पठानकोट की सीमा के साथ लगते जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों के इंटरस्टेट नाकों पर और संवेदनशील जगहों पर पुलिस फोर्स के साथ आतंकी हमले से निपटने के लिए बख्तरबंद गाड़ियां भी तैनात की गई हैं.

पकड़े गए आंतकियों से हुए बड़े खुलासे

बता दें कि बीते कुछ हफ्तों में पंजाब के तरनतारन से पकड़े गए दर्जनभर खालिस्तानी आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया. उनसे पूछताछ में खुलासा हुआ है कि आईएसआई और खालिस्तानी आतंकी पंजाब में 26/11 जैसी बड़ी आतंकवादी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे.

वहीं पुलिस सूत्रों ने बताया कि इन आतंकवादियों के निशाने पर पंजाब के कई बड़े धार्मिक और राजनेता भी थे. इन आतंकवादियों ने पुलिस को कई नेताओं के नाम भी बताए हैं, जिनको सुरक्षा कारणों से सार्वजनिक नहीं किया गया है.

खालिस्तानी आतंकवादियों के कब्जे से मिले हथियारों के जखीरे में कुछ हथियार भी बरामद हुए, जिनको जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों को दिए जाने थे, तो कुछ हथियार बाबा बलवंत सिंह नाम के खालिस्तानी समर्थक को सौंपे जाने थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें