scorecardresearch
 

करतारपुर कॉरिडोर: श्रेय लेने की होड़ में सिद्धू ने इमरान को बताया महान

सिखों के प्रथम गुरु नानक देव की 550वीं जयंती के मौके पर मोदी सरकार कई बड़े आयोजन करने की तैयारी कर रही है. बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में इससे जुड़े कई फैसले लिए गए.

X
नवजोत सिंह सिद्धू (फाइल फोटो) नवजोत सिंह सिद्धू (फाइल फोटो)

पाकिस्तान में स्थित करतारतुर साहिब गुरुद्वारे को लेकर भारत सरकार ने गुरुवार को बड़ा ऐलान किया. पंजाब में गुरदासपुर से लेकर अंतरराष्ट्रीय सीमा तक मोदी सरकार एक स्पेशल कॉरिडोर बनवाएगी जिससे करतारपुर साहिब जाने वाले श्रद्धालुओं को काफी फायदा हुआ था. अभी केंद्र सरकार ने इसका ऐलान ही किया था कि इसका श्रेय लेने के लिए राजनेताओं में बयानबाजी का दौर शुरू हो गया.

इस बीच पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने इस कॉरिडोर के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का धन्यवाद किया है. सिद्धू ने ट्वीट करते हुए लिखा कि धन्यवाद इमरान खान भाई, हम इस सकरात्मक कदम का स्वागत करते हैं. यह मानवता के लिए एक बड़ी सेवा है. आप महान हैं.

 Thank you @ImranKhanPTI Bhai, we welcome the positive step, it means the world to us. You’re a gem! This is a great service to mankind. Kudos to you!

ਨਾਨਕ ਨਾਮ ਚੜਦੀ ਕਲਾ ਤੇਰੇ ਭਾਣੇ ਸਰਬਤ ਦਾ ਭਲਾ| pic.twitter.com/xehaXTfzTm

सिद्धू ने किया मोदी सरकार का शुक्रिया

नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान दौरे के बाद से ही भारतीय राजनीति में करतारपुर साहिब को लेकर चर्चा शुरू हुई. केंद्र सरकार के ऐलान के बाद सिद्धू ने ट्वीट कर मोदी सरकार का आभार व्यक्त किया. उन्होंने लिखा कि इस फैसले से दोनों देशों के बीच शांति का संदेश जाएगा.

गौरतलब है कि सिद्धू के पाकिस्तान दौरे को लेकर काफी बवाल हुआ था, उन्होंने दावा किया था कि उनके दौरे के दौरान ही पाकिस्तान सरकार करतारपुर साहिब कॉरिडोर के लिए तैयार हुई.

'अकाली दल की अपील पर हुआ फैसला'

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने भी इस पर ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि अकाली दल की अपील पर केंद्र सरकार ने जो करतारपुर साहिब कॉरिडोर बनाने का फैसला लिया है, उसके लिए वह मोदी सरकार का धन्यवाद देती हैं.

'कौन सिद्धू?'

पंजाब के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने इस फैसले के बाद नवजोत सिंह सिद्धू पर निशाना साधा. उन्होंने लिखा कि केंद्र सरकार ने जो फैसला लिया है, वह ऐतिहासिक है. नवजोत सिंह सिद्धू के बारे में उन्होंने कहा कि कौन सिद्धू, इस बारे में सिद्धू का कोई भी रोल नहीं है.

आपको बता दें कि सिखों के प्रथम गुरु नानकदेव ने करतारपुर को बसाया था, कहा जाता है कि उन्होंने अपने जीवन के अंतिम कुछ साल यहां पर ही व्यतीत किए थे. यहां पर एक गुरुद्वारा है, जिसे करतारपुर साहिब कहा जाता है. ये भारत-पाकिस्तान सीमा से चार किलोमीटर दूर है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें