scorecardresearch
 

बढ़ते कोरोना पर पंजाब सरकार एक्टिव, सीएम अमरिंदर सिंह का निर्देश- रोजाना 2 लाख लोगों को लगे टीका

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कोरोना की स्थिति की साप्ताहिक समीक्षा के दौरान बुधवार को राज्य में उच्च सकारात्मकता और मृत्यु दर पर चिंता व्यक्त की. उन्होंने कहा कि पंजाब में 85% से अधिक मामले ब्रिटेन स्ट्रेन के हैं, जो अधिक संक्रामक और विषाणुजनित है.

पंजाब सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो) पंजाब सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंजाब में कोरोना पॉजिटिविटी रेट में 7.7% की हुई वृद्धि
  • 'PGI में ICU के 50 बेड पंजाब के लोगों के लिए रिजर्व'
  • अब पूरे पंजाब में लागू होगा नाइट कर्फ्यूः CM अमरिंदर सिंह

पंजाब में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक और अहम फैसला लिया है. सीएम ने आज बुधवार को स्वास्थ्य विभाग को टीकाकरण अभियान को आगे बढ़ाने और रोजाना 2 लाख को टीका लगाने का लक्ष्य तय करने का निर्देश दिया. साथ ही मुख्यमंत्री ने राज्य में प्रतिदिन 50 हजार लोगों का सैंपल लेने के लक्ष्य का भी निर्देश दिया है. साथ ही पूरे पंजाब में नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है.

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर ने कोरोना की स्थिति की साप्ताहिक समीक्षा के दौरान बुधवार को राज्य में उच्च सकारात्मकता और मृत्यु दर पर चिंता व्यक्त की. उन्होंने कहा कि यह चिंता का विषय है कि पंजाब में 85% से अधिक मामले ब्रिटेन स्ट्रेन के हैं, जो अधिक संक्रामक और विषाणुजनित है. सीएम ने कहा कि ऐसे लोग जो इलाज के अभाव में अपनी जान गंवा देते हैं, उन्हें यह जानकर कष्ट होता है. सीएम ने निर्देश दिया कि जन जागरूकता अभियान चलाए जाने चाहिए जिसमें यह सुनिश्चित कराया जाए कि शुरुआती लक्षण होने पर लोग तुरंत अस्पताल जाकर सही समय पर उपचार करा सकें.

साथ ही सीएम अमरिंदर सिंह ने पीजीआई में आईसीयू के 50 बेड पंजाब के लोगों के लिए रिजर्व रखने के भी निर्देश दिए हैं. बता दें कि पंजाब में कोरोना पॉजिटिविटी रेट और मृत्यु दर में पिछले सप्ताह क्रमशः 7.7% और 2% की वृद्धि हुई है.

अब पूरे पंजाब में नाइट कर्फ्यूः CM

सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा कि कोरोना को रोकने के लिए कठोर कदम उठाने के अलावा और कोई विकल्प नहीं था, हालांकि सकारात्मक मामलों की संख्या पिछले कुछ दिनों में कुछ हद तक स्थिर हो गई थी. उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों ने रैलियां करने से परहेज करने के अपने वादे को तोड़ा है, इस वजह से राजनीतिक आयोजनों पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है.

वहीं सीएम अमरिंदर ने 30 अप्रैल तक सभी राजनीतिक रैलियों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया है और कहा कि अगर कोई नेता उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ डीएमए और महामारी अधिनियम के तहत केस दर्ज किया जाएगा. साथ ही मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 12 जिलों में लगे नाइट कर्फ्यू को पूरे प्रदेश में लागू कर दिया है यानी अब रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक पूरे प्रदेश में नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा. यह 30 अप्रैल तक लागू रहेगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें