scorecardresearch
 

Aroosa Alam Exclusive: लवर नहीं, Soulmate...कैप्टन अमरिंदर से रिश्तों पर अरूसा आलम की सफाई, ISI से लिंक पर भी जवाब

पंजाब की राजनीति में इन दिनों पाकिस्तानी पत्रकार अरूसा आलम चर्चा में हैं. उन पर कई सारे आरोप लगाए गए हैं. कैप्टन अमरिंदर से उनके रिश्ते की बातें कहीं जा रहीं हैं. सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने उन पर पैसे पाकिस्तान ले जाने का आरोप लगाया है. इन सभी आरोपों पर अरूसा आलम ने आजतक से बात की है. पढ़ें पूरी बातचीत...

कैप्टन अमरिंदर सिंह और अरूसा आलम (फाइल फोटो-Getty Images) कैप्टन अमरिंदर सिंह और अरूसा आलम (फाइल फोटो-Getty Images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अरूसा आलम की आजतक से खास बातचीत
  • आलम ने अपने ऊपर लगे सभी आरोप खारिज किए

पंजाब की राजनीति में इन दिनों पाकिस्तानी पत्रकार अरूसा आलम (Aroosa Alam) चर्चा में बनी हुईं हैं. अरूसा आलम पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) की महिला मित्र हैं. बीते दिनों पंजाब के डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा (Sukhjinder Singh Randhawa) ने अरूसा आलम का आईएसआई (ISI) से कनेक्शन बताया था. 

इतना ही नहीं, रंधावा ने तो ये तक कह दिया था कि सिख धर्म में 'लव अफेयर्स' की इजाजत नहीं है. उन्होंने कहा था, 'गुरबानी में भी किसी दूसरी महिला के साथ रहना गलत माना जाता है. अरूसा आलम के मुद्दे को लेकर मैं और कैप्टन अमेरिका में भी लड़े थे.'

अरूसा आलम ने सफाई में ये कहा

हालांकि, आजतक से बात करते हुए अरूसा आलम ने इन सभी आरोपों को खारिज कर दिया है. कैप्टन से लव अफेयर्स की बातों पर अरूसा आलम ने कहा कि वो सिर्फ अच्छे दोस्त हैं, लवर नहीं हैं. उन्होंने बताया, 'हम साथी रहे हैं. जब हम पहली बार मिले थे तब मैं 56 साल की थी और 66 के थे. इतनी उम्र में हम लवर की तलाश में नहीं रहते. हम अच्छे दोस्त हैं, साथी हैं, सोलमेट हैं.'

अरूसा ने आगे कहा, 'हम जीवन के उस मोड़ पर मिले थे, जहां प्यार और रोमांस मायने नहीं रखता. हम अच्छे फैमिली फ्रेंड हैं. मैं उनकी मां, बहन और परिवार से भी मिली हूं.'

ISI से लिंक के आरोपों पर क्या बोलीं अरूसा?

रंधावा ने अरूसा आलम और आईएसआई के बीच लिंक होने का आरोप लगाया था और कहा था कि इसकी जांच की जाएगी. इस पर कैप्टन की ओर से उनके मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने ट्वीट किया था कि अरूसा आलम पिछले 16 साल से भारत सरकार की मंजूरी से भारत आ रही हैं.

इन आरोपों पर अरूसा ने कहा, 'जब पाकिस्तानी को वीजा मिलता है तो बहुत सारी जांच होती है. बैकग्राउंड चेक किया जाता है. इसमें कई सारी एजेंसियां शामिल होती हैं. मैं पिछले 16 साल से भारत की यात्रा कर रही हूं और हर बार मुझे सिक्योरिटी क्लियरेंस मिला है. मेरे आईएसआई से लिंक कैसे हो सकते हैं जो इतने सालों से एजेंसियों को पता नहीं चले. अगर मेरे आईएसआई से लिंक हैं तो ये आपकी सुरक्षा एजेंसियों पर ही उंगली उठाता है जो मुझे इतने सालों से आने दे रहे थे.'

उन्होंने कैप्टन अमरिंदर के विरोधियों को 'लकड़बग्घों का झुंड' बताया. अरूसा ने कहा, 'वो लकड़बग्घों का झुंड हैं. अवसरवादी हैं. विश्वासघाती हैं. पंजाब की राजनीति निचले स्तर पर पहुंच गई है. ये सब सत्ता की लालसा है. हर कोई मुख्यमंत्री बनना चाहता है. ये अति-महत्वाकांक्षी लोग हैं जो अपना हिस्सा हासिल करना चाहते हैं.'

ये भी पढ़ें-- सोनिया, मुलायम, महेश भट्ट संग अरूसा की फोटो शेयर कर बोले कैप्टन अमरिंदर सिंह- सब ISI से जुड़े हैं क्या?

सिद्धू दंपति के आरोपों पर क्या बोलीं अरूसा?

नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) और उनकी पत्नी नवजोत कौर सिद्धू (Navjot Kaur Sidhu) भी अरूसा आलम को लेकर हमलावर रहीं हैं. नवजोत कौर सिद्धू ने तो ये तक कह दिया था कि पंजाब पुलिस में पोस्टिंग अरूसा की सहमति से होती थी. नवजोत कौर ने ये भी आरोप लगाया कि अरूसा सारा पैसा पाकिस्तान ले गईं और अब कैप्टन को भी वहां चले जाना चाहिए. 

इन आरोपों पर अरूसा ने कहा, 'मैं कैप्टन साहब के साथ 13 सालों से हूं, जब वो विपक्ष में थे. जब वो इतने सालों तक सत्ता में नहीं थे तो मैं कैसे एसपी, एसएसपी या डीएसपी को जान सकती हूं. मैं कैसे पोस्टिंग और ट्रांसफर मैनेज कर सकती हूं. मुझे तो ये भी नहीं पता कि कौन से मंत्री के पास कौनसा विभाग था.' उन्होंने बताया, 'जब वो सीएम बने तो राजनीति पर चर्चा करने पर वो मुझसे चिढ़ते थे. वो हमेशा कहते थे मजे करो, मेलजोल बढ़ाओ, दोस्तों से मिलो. राजनीति से दूर रहो.'

नवजोत कौर सिद्धू की ओर से किए गए व्यक्तिगत हमलों पर अरूसा ने कहा, 'कोई भी आरोप लगा सकता है. मैं भी लगा सकती हूं. वो कई सालों तक अपने पति नवजोत सिंह सिद्धू के साथ नहीं रहीं. उनके पति मुंबई में थे और वो मंत्रालय संभालती थीं. मैंने उनके (सिद्धू) बारे में कई शिकायतें सुनी हैं कि वो कोई भी काम बिना पैसों के नहीं करते थे.'

आलम ने आगे कहा, 'वो (नवजोत कौर) कह रहीं हैं कि मैं पैसे और गहने लेकर भाग गई. मैंने ऐसा नहीं किया. मैं कानूनी तौर से वहां से आई हूं और बॉर्डर पर सिक्योरिटी जांच होती है. वो सब कुछ चेक करते हैं. मैं कैसे इतने सारे पैसे और गहने लेकर यात्रा कर सकती हूं. मैं पिछले साल की शुरुआत से इस्लामाबाद में हूं.'

उन्होंने ये भी कहा कि उनके बच्चे और परिवार भारत में चल रहे विवाद से परेशान हैं. उन्होंने कहा, 'उनके पास कई सारे सवाल हैं और मेरे पास कोई जवाब नहीं. मेरे बच्चों पर असर पड़ा है. उन्होंने मुझे हमेशा चेताया है और आज मुझे उसकी भारी कीमत चुकानी पड़ रही है.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×